आभासी दुनिया के अभाव और प्रभाव पर महिलाओं ने की बात

अच्छी इंदौर लिटरेचर फेस्टिवल के अंतिम दिन आज पहले सत्र में आभासी दुनिया के अभाव और प्रभाव विषय पर महिला लेखिकाओं ने चर्चा की।

अच्छी इंदौर लिटरेचर फेस्टिवल के अंतिम दिन आज पहले सत्र में आभासी दुनिया के अभाव और प्रभाव विषय पर महिला लेखिकाओं ने चर्चा की। इस चर्चा में संध्या राय चौधरी मॉडरेटर थी और शिखा परिहार, महिमा वर्मा, डॉक्टर उषा गौर, मनीषा व्यास दीपा व्यास ,आदित्य सिंह भदोरिया चर्चा में शामिल हुई।

महिला लेखिकाओं ने फेसबुक तथा अन्य सोशल मीडिया में आज के युवा किस तरह से लिप्त हैं और किस तरह से भी आभासी दुनिया के आदी बनते जा रहे हैं इस पर विचार किया । कुल मिलाकर सभी का यह मानना था कि आज की आभासी दुनिया युवा वर्ग के लिए एडिक्ट का काम कर रही है उन्होंने कहा कि इससे आज की पीढ़ी को बचाना चाहिए ।