देश में लगातार भारी बारिश का कहर जारी है। इसी बीच सोमवार को मौसम विभाग ने भीषण बरसात का अलर्ट जारी किया है। इसी के साथ बताया कि केरल, आंध्र प्रदेश और तंमिलनाडु समेत दक्षिण के राज्यों में आंधी के साथ भारी बारिश होने की संभावना जाहिर की है। वही हिमाचल प्रदेश और जम्मू-कश्मीर जैसे पहाड़ी इलाकों में बर्फबारी हो सकती है।

2 नवंबर तक बन रहा है ये आसार

मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार, पहाड़ी इलाकों के साथ-साथ मैदानी इलाकों में मौसम का मिजाज तेजी से बदलने और ठंड बढ़ने के आसार हैं। बुधवार 2 नवंबर तक तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश और केरल समेत कई दक्षिणी राज्यों में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है। पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव से आज 31 अक्टूबर को तमिलनाडु, पुडुचेरी, केरल, यमन, आंध्रप्रदेश और कराईकल में भारी बारिश के साथ आंधी-बिजली गिरने के के आसार है। वही जम्मू-कश्मीर, लद्दाख और हिमाचल प्रदेश में भी बारिश के साथ-साथ बर्फबारी की संभावना जताई गई है।

कुछ जिलों में बारिश का पूर्वानुमान

जम्मू-कश्मीर, लद्दाख, गिलगित-बाल्टिस्तान, हिमाचल प्रदेश में एक नवंबर से बारिश होगी। आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु, कर्नाटक, केरल पुडुचेरी, कराईकल समेत देश के कई हिस्सों में तीन दिन तक मध्यम से भारी बारिश का पूर्वानुमान है। आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु, पुडुचेरी, कराईकल, अंडमान, निकोबार, यनम, असम, अरुणाचल प्रदेश और नागालैंड केरल और माहे समेत कई जगहों पर आज भी बारिश का पूर्वानुमान जताया है।

अंडमान और निकोबार में भारी बारिश 

स्काईमेट के मुताबिक, मंगलवार 1 नवंबर से जम्मू कश्मीर, गिलगित-बाल्टिस्तान, मुजफ्फराबाद, लद्दाख और हिमाचल प्रदेश के कुछ हिस्सों में हल्की बारिश और हिमपात होने के आसार है, उसके दो या तीन दिन बाद बारिश और बर्फबारी की गतिविधियां तेज हो जाएंगी।पूर्वोत्तर मानसून की दस्तक के साथ दक्षिण तटीय आंध्र प्रदेश, तटीय तमिलनाडु और अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में मध्यम से भारी बारिश हो सकती है। तमिलनाडु, दक्षिण आंतरिक कर्नाटक और केरल के शेष हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है।

6 से 8 नवंबर के बीच मौसम का हाल

इस बीच मौसम विभाग उत्तर भारत में 7 से 8 नवंबर के बीच मौसम में बड़े बदलाव का पूर्वानुमान जताया है। IMD के कहना है कि 6-7 नवंबर से देश में दो पश्चिमी विक्षोभ के कारण उत्तर से लेकर मध्य भारत तक ठिठुरन बढ़ेगी।

एमआई के अनुसार सोमवार को पहला पश्चिमी विक्षोभ कश्मीर में दस्तक देगा। जिसके कारण एक-दो नवंबर से जम्मू-कश्मीर, हिमाचल और उत्तराखंड में बर्फबारी के साथ बारिश होगी।

वहीं 3 नवंबर को दूसरा पश्चिमी विक्षोभ आएगा। इसके कारण 5-6 नवंबर को कश्मीर से हिमाचल और उत्तराखंड में भारी बर्फबारी के साथ-साथ कई जगहों पर बारिश भी होगी।

मौसम विभाग का कहना है कि अभी उत्तर और पश्चिम से लेकर मध्य भारत तक शुष्क उत्तर-पश्चिम हवाएं चल रही हैं। ये हवाएं पहाड़ों पर बर्फबारी के बाद बर्फीले इलाकों से गुजरेगी और उत्तर भारत के अधिकांश हिस्से तक ठंडक लेकर पहुंचेंगी।

इसके कारण पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, राजस्थान, महाराष्ट्र, गुजरात, तेलंगाना, ओडिशा समेत देश के कई राज्यों में 8-9 नबंवर से तापमान में गिरावट बड़ी गिरावट आएगी।

निजी मौसम पूर्वानुमान एजेंसी स्काईमेट वेदर (Skymet Weather) के मुताबिक आज आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु , अंडमान -निकोबार द्वीप, दक्षिण आंतरिक कर्नाटक, दक्षिण तटीय कर्नाटक और केरल में कुछ जगहों पर बारिश होगी।

वहीं दिल्ली और एनसीआर की वायु गुणवत्ता बेहद खराब से गंभीर श्रेणी में रहेगी। गंगा के मैदानी इलाकों में सुबह के समय धुंध की संभावना है।