विश्वराज शुगर ने नई तकनीक विकसित की

विश्वराज शुगर इंडस्ट्रीज लिमिटेड (बीएसई: 542852, एनएसई: विश्वराज) ने स्टॉक एक्सचेंजों को सूचित किया है कि यह इथेनॉल उत्पादन को बढ़ाने के लिए गन्ना सिरप संरक्षण हेतु एक तकनीक को सफलतापूर्वक विकसित करने में सक्षम हैं।

बेलगावी। विश्वराज शुगर इंडस्ट्रीज लिमिटेड (बीएसई: 542852, एनएसई: विश्वराज) ने स्टॉक एक्सचेंजों को सूचित किया है कि यह इथेनॉल उत्पादन को बढ़ाने के लिए गन्ना सिरप संरक्षण हेतु एक तकनीक को सफलतापूर्वक विकसित करने में सक्षम हैं। यह तकनीक बहुत ही सरल और अत्यधिक लागत प्रभावी है व उत्कृष्ट परिणाम देती है।

हाल ही में कंपनी ने घोषणा की थी कि वह अपनी पेटेंट तकनीक का उपयोग करके फार्मास्युटिकल ग्रेड शुगर का उत्पादन करेगी। कंपनी के पास नवीनतम तकनीकों से युक्त एक अति आधुनिक रिसर्च एवं डेवलपमेंट सेंटर है। यह भारत में अग्रणी फार्मास्युटिकल कंपनियों को इस फार्मा ग्रेड चीनी की सप्लाई करने की प्रक्रिया में है और इसे पूरी दुनिया में निर्यात करने की भी योजना बना रही है। आईएस 1151, 2021 संस्करण में निर्धारित विनिर्देशों को पूरा करते हुए कंपनी ने रिफाइंड ग्रेड चीनी का उत्पादन भी शुरू कर दिया है।

Also Read – वैक्सीनेशन प्रोग्राम में लापरवाही बरतने वालों पर प्रतिभा पाल का सख्त संदेश, नहीं चलेगी मनमानी

इस साल की शुरुआत में, विश्वराज शुगर इंडस्ट्रीज (वीएसआईएल) ने ऑइल मार्केटिंग कंपनियों (ओएमसी) – भारत पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन (बीपीसीएल), इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन (आईओसी) और हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन (एचपीसीएल) के साथ 155 करोड़ रुपये के 2.50 करोड़ लीटर इथेनॉल की सप्लाई के लिए अनुबंध किया था, जो कि दिसंबर 2021 से शुरू हो चूका है।