Indore के सीरियल दुष्कर्मी और हत्यारे की दिल दहला देने वाली कहानी, प्रेमी जोड़ों को बनाता था निशाना

इस घटना को आरोपियों ने साल 2017 में अंजाम दिया था जब एक जोड़ा मेहंदी कुंड घूमने निकला था उसे रास्ता बताने के बहाने यह लोग गहरी खाई के पास ले गए वहां डरा धमका कर जोड़े से 5200 रुपए सहित लड़की की सोने की चेन, टॉप्स और एटीएम कार्ड छीन लिया.

Indore: इंदौर में जबसे कमिश्नर सिस्टम लागू हुआ है तब से ही कुछ अनसुलझे मामले चर्चा में बने हुए हैं. इन मामलों को एक बार फिर से पुलिस सुलझाने की कोशिश कर रही है. इसी कड़ी में बहुचर्चित मेहंदी कुंड सीरियल दुष्कर्म और हत्या के आरोपी ईश्वर भील का चिट्ठा खोल कर पुलिस ने उस पर 30 हजार का इनाम घोषित किया है. इससे पहले गोवा पुलिस उस पर 1 लाख का इनाम घोषित कर चुकी है.

आरोपी ईश्वर भील ने अपनी गैंग के साथ मिलकर इंदौर के मेहंदी कुंड, पातालपानी, बामनिया कुंड इलाके में कई वारदातों को अंजाम दिया. यह लोग इन क्षेत्रों में घूमने आने वाले युवक-युवतियों को अपना निशाना बनाते थे. इन लोगों ने 3 साल में 20 से अधिक दुष्कर्म और और एक प्रेमी जोड़े की हत्या को अंजाम दिया था. दुष्कर्म के आरोप में गोवा पुलिस ने साल 2018 में ईश्वर भील को गिरफ्तार भी किया था, लेकिन मेडिकल कराने जाने के दौरान यह चकमा देकर भाग गया था.

Must Read- सिम बदलने के बाद कैसे कर सकते हैं Aadhaar Card से मोबाइल नंबर अपडेट? जानें पूरी प्रोसेस

भील गैंग के सभी सदस्य पिकनिक स्पॉट पर आने वाले युवक-युवतियों को अपना निशाना बनाते थे. युवक युक्तियां जो एकांत की तलाश में आते थे, यह उन्हें दबोच लेते थे और डरा धमका कर लूटपाट के साथ दुष्कर्म और सामूहिक दुष्कर्म की घटनाओं को भी अंजाम देते थे. बदनामी के डर से दुष्कर्म या सामूहिक दुष्कर्म का शिकार बनने वाले जोड़े इनकी शिकायत नहीं करते थे, इस वजह से इनके हौंसले बढ़ने लगे. एक बार इस गैंग ने सामूहिक दुष्कर्म के बाद युवक और युवती की हत्या भी कर दी थी. 2018 में पुलिस ने एक लूटपाट की घटना की जांच करने के दौरान युवक और युवती का कंकाल बरामद किया था.

इस घटना को आरोपियों ने साल 2017 में अंजाम दिया था. जब एक जोड़ा मेहंदी कुंड घूमने निकला था उसे रास्ता बताने के बहाने यह लोग गहरी खाई के पास ले गए वहां डरा धमका कर जोड़े से 5200 रुपए सहित लड़की की सोने की चेन, टॉप्स और एटीएम कार्ड छीन लिया. इसके बाद युवती से दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया. दोनों किसी को पहचान ना ले इस डर से दोनों को कपड़े उतरवाकर खाई में धक्का दे दिया. दोनों जिंदा है या मर गए यह सुनिश्चित करने के लिए यह गहरी खाई में उतरे जहां पत्थरों से युवक युवती का सिर कुचल कर उन्हें बड़े-बड़े पत्थरों से ढक दिया.

Must Read- MP News : बुजुर्ग की हत्या पर सियासत गरमाई, विपक्ष ने घेरा तो नरोत्तम ने दिया ये जवाब

इस वारदात की सूचना पुलिस को तब लगी जब 2018 में एक चोरी के आरोपी को पुलिस ने जेल में बंद किया था और उसी जेल में हत्या के आरोपी बलराम को भी पकड़ कर लाया गया. वहां दोनों में कहासुनी शुरू हो गई और यह एक दूसरे की पोल खोलने लगे. मुखबीर से पुलिस को इस बात की सूचना हुई तब कहीं जाकर गायब हुए युवक और युवती के बारे में सुराग हाथ लगा.

इंदौर की घटना को अंजाम देने के बाद आरोपी गोवा पहुंचा था. जहां पुलिस ने उसे रेलयार्ड से एक लड़की के साथ दुष्कर्म की घटना के चलते गिरफ्तार किया था. मेडिकल कराने के लिए जब पुलिस जिसे अस्पताल ले जा रही थी उसी समय यह चकमा देकर भाग निकला था. गोवा पुलिस की पूछताछ में आरोपी ने आने वाले सैलानियों के बैग और पर्स चोरी करने के बात भी कबूल की थी. वह मेहंदी कुंड, बामनिया कुंड और पातालपानी में घटना को अंजाम देने के बाद गोवा भाग जाता था. उसने वहां की स्थानीय भाषा भी सीख ली थी जिससे लोगों को उस पर शक नहीं होता था.

ईश्वर के पकड़े गए साथी ने पहले उसके बारे में कई खुलासे किए थे और बताया था कि कॉलेज में पढ़ने वाली एक लड़की के साथ उसने लव मैरिज कर ली थी. यह लड़की एक आर्मी मेन की बेटी थी. बुरी आदतों की वजह से वह अपने पति को छोड़कर चली गई. इनकी एक बेटी भी है वह फिलहाल चेन्नई में रहती है. ईश्वर भील उनसे कई बार मिलने वहां जा चुका है.