सूदखोर महिला से परेशान था परिवार, फिर पुलिस ने किया कुछ ऐसा, पढ़े यहां

शहर में सूदखोरो के खिलाफ प्रभावी कारवाई के लिए कमिश्नर ऑफ पुलिस इंदौर श्री हरिनारायनाचारी मिश्र और असिस्टेंट कमिश्नर ऑफ पुलिस इंदौर श्री मनीष कपूरिया ने इंदौर पुलिस को निर्देशित किया है।

इंदौर। शहर में सूदखोरो के खिलाफ प्रभावी कारवाई के लिए कमिश्नर ऑफ पुलिस इंदौर श्री हरिनारायनाचारी मिश्र और असिस्टेंट कमिश्नर ऑफ पुलिस इंदौर श्री मनीष कपूरिया ने इंदौर पुलिस को निर्देशित किया है। इसी कड़ी में डीसीपी श्री आशुतोष बागरी, असिस्टेंट डीसीपी श्री जयवीर सिंह भदौरिया व एसीपी श्री मोती उर रहमान के मार्गदर्शन में पुलिस थाना आजाद नगर ने एक सूदखोर के विरुद्ध कारवाई पीड़ित को सूदखोर के चंगुल से मुक्त कराया।

must read: OMICRON: प्रशासन तो हो गया अलर्ट, पर चालान काटने पर भड़की महिला करने लगी हाथापाई, देखे वीडियो

आजाद नगर थाने पर इदरीश नगर निवासी मालती लोधी ने शिकायत दर्ज कराई थी। मालती मूल रूप से सागर की रहने वाली है। मालती ने नवंबर 2020 में मकान बनाने के लिए नीलम यादव उर्फ मुन्नी बाई निवासी आलोक नगर से एक लाख रुपए 7 प्रतिशत ब्याज पर उधार लिए थे। इसके लिए में वह एक लाख चालीस हजार रुपए लौटा चुकी थी। इसके बाद भी नीलम और रुपए की मांग कर रही थी। ब्याज के बदले वह 18 हजार रुपए मांग रही थी। पैसे नहीं देने पर उनकी बाइक वह ले गई। आए दिन घर आकर वह परेशान करती थी। मालती घर में किराना दुकान चलाती है। वह पति और तीन बच्चो के साथ रहती है।
नीलम अब 1 लाख 30 हजार रुपए की और मांग करने लगी। मालती के मकान पर उसने नोटिस भी लगा दिया की ये मकान उसने खरीद लिया है। उसकी धमकियों से परेशान होकर मालती अपने परिवार के साथ सागर चली गई। वापस लौटने में वह डर रही थी। परिवार के लोगो के हिम्मत देने पर परिवार आजाद नगर थाने पहुंचा और शिकायत दर्ज करवाई।
आजाद नगर पुलिस ने नीलम के खिलाफ सूदखोरी का केस दर्ज किया था। मालती को चेक बाउंस करवाकर जेल भेजने की वह धमकी देती। मंगलवार को पुलिस ने नीलम से चेक और बाइक वापस करवाई। मामले में पुलिस ने नीलम को नोटिस दिया। मालती के परिवार को वापस पुलिस ने उनके घर पहुंचाया। पुलिस की कारवाई से फरियादी काफी खुश हुई। उसने पुलिस को तत्परता पूर्वक कारवाई के लिए धन्यवाद भी दिया।