कोरोना मरीजों को बचाने वाले डॉक्टर की संक्रमण से मौत

0
Dr hediyo ali

नई दिल्ली। इंडोनेशिया के डा. हैदियो अली जो की कोरोना वायरस के मरीजों का इलाज कर रहे थे, उन्हें भी मालूम नहीं हुआ की कब यह जानलेवा वायरस उनके शरीर में पहुंच चूका है। मरने से पहले वे घर आए, बच्चों को गेट से ही बाहर से देखा और अपने अंतिम सफर पर चले गए। जाने से पहले वे अपने बच्चों को भी न सटा सके। न ही प्यार कर सके और न ही चूम सके।

दरअसल डा. हैदियो अली कोरोना वॉयरस के मरीज़ों का का ईलाज करते हुए खुद कोरोना से संक्रमित हो गये थे। जब उनको इस बात की खबर लगी कि अब वो नहीं बचेंगे तो घर गए और गेट के बाहर खड़े होकर अपने बच्चों और प्रैग्नेंट बीवी को आख़री बार निहारा और फिर चले गए, यह तस्वीर उनकी पत्नी ने ली थी। जब वोह अपने बच्चों को जी भरकर देखने और उनसे विदा लेने आये थे, वे दूर ही खड़े रहे क्योंकी वो नहीं चाहते थे कि उनके बीवी बच्चों तक कोरोना पहुंचे।