भोपाल : सफाई कर्मचारी आयोग के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री एम वेंकटेशन (केबिनेट मंत्री दर्जा केंद्र सरकार) ने कलेक्टर कार्यालय के सभा कक्ष में सफाई कर्मचारियों और उनके संगठनों के साथ बैठक की। इस दौरान कलेक्टर श्री अविनाश लवानिया, नगर निगम आयुक्त श्री केवीएस चौधरी कोलसानी, अपर कलेक्टर श्री उमराव सिंह मरावी और अन्य विभागों के अधिकारी भी उपस्थित रहे।

बैठक में राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री एम वेंकटेशन ने कहा कि सफाई कार्य में लगे सभी माता-पिता अपने बच्चों को शासकीय सेवा में उच्च पदों के लिए तैयारी कराए, इस बारे में सेमिनार का आयोजन भी करें और जिले के वरिष्ठ अधिकारियों को मार्गदर्शन के लिए बुलाया जाए। कलेक्टर, एसपी और अन्य पदों की तैयारी के लिए उनको बचपन से ही बताए जिससे बच्चों में पढ़ाई की रुचि बनाए रखे। अच्छे पदों पर चयन से परिवार, समाज और सभी लोगों के बीच विशेष सम्मान मिलता है। समाज में पढ़ाई के लिए विशेष माहौल होने से सभी को समान अवसर मिलते है।

श्री वेंकटेशन ने कहा कि वह स्वयं भी ऐसे माता-पिता की संतान है जो सफाई कर्मचारी है और चेन्नई में उनका घर आज भी 250 स्क्वायर फिट में बना हुआ है गरीब और मलिन बस्ती में जन्म लेने के बाद भी आज 40 वर्ष की उम्र में इस पद तक मेहनत , ईमानदारी और समाज के प्रति कार्यों को करने से पहुचे है।

बैठक में सभी सफाई कर्मचारी और संगठन ने कहा कि नगर निगम में अस्थाई कर्मियों को नियमित करने के लिए कार्रवाई शुरू हो। सफाई कार्य के लिए केवल अनुसूचित वर्ग के लोगो का ही चयन किया जाए , सफाई कर्मचारी को फ्रंट लाइन वर्कर माना जाए और अन्य सभी सुविधाए भी दी जाए। इसके साथ कुछ संगठनों ने सफाई कर्मचारी आयोग की किसी अन्य आयोग में विलय नहीं करने की बात कही। सफाई कर्मचारियों ने बताया कि भोपाल में 25 दिन की व्यवस्था खत्म करके भोपाल नगर निगम ने विशेष कार्य किया है। इसके साथ ही सफाई काम में ठेकेदारी को भी खत्म किया गया है।

कलेक्टर श्री लवानिया ने कहा कि फ्रंट लाइन वर्कर के लिए राज्य शासन को सोमवार को ही प्रताव भेजा जाएगा। जिले में सफाई कर्मचारियों की समस्या के समाधान के लिए जिला स्तर पर समिति का गठन किया जाएगा और प्रमोशन संबंधी करवाई के लिए नगरीय प्रशासन से मार्गदर्शन लिया जाएगा। सफाई कर्मचारियों के स्वास्थ सुरक्षा के लिए आयुष्मान कार्ड बनाए जा सके इसके लिए भी नगर निगम को निर्देश दिए है।

आयुक्त नगर निगम श्री केवीएस चौधरी कोलसानी ने बताया कि नगर निगम में अधिकतर बड़े सफाई के काम मशीनों के माध्यम से कराए जा रहे है इसमें सहयोग के लिए सफाई कर्मचारियों को लगाया जाता है। सेफ्टी टैंक को खाली करने का काम पूर्णत मशीनों से ही कराया जा रहा है। कोरोना संक्रमण काल में सुरक्षा के लिए मास्क, दस्ताने, सेनेटाइजर दिया जा रहा है। स्वास्थ्य परिक्षण के लिए भी व्यवस्था की गई है। बैठक में सभी कर्मचारी संगठनों में अपनी मांगों के लिए लिखित में भी आवेदन दिए।