नई दिल्ली। फूड डिलीवरी कंपनी स्विगी ने 380 कर्मचारियों को नौकरी से निकाल दिया है। नौकरी से निकाले गए कर्मचारियों को कंपनी ने ई-मेल के जरिए सूचित किया। कर्मचारियों को लिखे पत्र में कंपनी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (CEO) श्रीहर्ष मजेटी ने कहा कि यह एक “बहुत कठिन निर्णय” है।

कंपनी ने इस बात की जानकारी देते हुए कहा है कि, यह कदम उसने अपने बदलाव की कोशिशों के तहत उठाया है। कंपनी ने 380 क्षमतावान कर्मचारियों को निकालने के बारे में बताया कि हम यह कठिन फैसला अपनी टीम को छोटा करने के लिए कर रहे हैं। स्विगी ने छंटनी के लिए जिन प्रमुख कारणों का उल्लेख किया है, उनमें से एक चुनौतीपूर्ण मैक्रोइकॉनॉमिक स्थितियां हैं।

Also Read – यह ‘मिस्ट्री मैन’ लेकर आया अनंत अंबानी और राधिका मर्चेंट की इंगेजमेंट रिंग, देखते रह गए मेहमान, वीडियो हुआ वायरल

कंपनी ने खुलासा किया कि खाद्य वितरण की विकास दर धीमी हो गई है, जिसके परिणामस्वरूप कम मुनाफा और कम आय हुई है। हालांकि, स्विगी कह रहा है कि उसके पास खुद को बनाए रखने के लिए पर्याप्त नकदी है। खुद कंपनी के सीईओ ने यह चिट्ठी लिखी। ईमेल में माफी मांगते हुए सीईए श्रीहर्ष मजेटी ने छंटनी के कई कारण बताए हैं और लिखा कि कंपनी ने गलती से जरूरत से ज्यादा भर्ती कर ली थी, इसलिए छंटनी करना पड़ी है।