rajeev ranjan

पटना। भारतीय जनता पार्टी को बिहार में बड़ा झटका लगा है। पार्टी के दिग्गज नेता और प्रदेश उपाध्यक्ष राजीव रंजन ने शुक्रवार को पद से इस्तीफा दे दिया है। इतना ही उन्होंने पार्टी पर कई आरोप भी लगाए है। पत्र लिखकर राजीव रंजन ने कहा कि बिहार बीजेपी आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नीतियों व आदर्शों से पूरी तरह भटक चुकी है।

राजीव रंजन ने आगे कहा- प्रधानमंत्री के ‘सबका साथ-सबका विकास’ की बात केवल कहने तक ही सीमित हो चुकी है। आज पार्टी में पिछड़ा/अतिपिछड़ा व दलित समाज के विरोधी तत्व हावी हो चुके हैं। हालात यह है कि जो नेता पिछड़े समाज के नहीं है वह भी इस समाज के नाम पर दशकों से सत्ता सुख भोग रहे हैं।

Also Read: CM शिवराज ने निवाड़ी कलेक्टर को हटाने को कहा, संभागायुक्त ने अवकाश पर भेज दिया!

दूसरी तरफ भाजपा ने पार्टी उपाध्यक्ष और पूर्व विधायक राजीव रंजन पर बड़ी कार्रवाई की है। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. संजय जयसवाल ने राजीव रंजन को छह साल के लिए प्राथमिक सदस्यता से निलंबित कर दिया है। प्रदेश अध्यक्ष ने कहा है कि उन पर यह कार्रवाई पार्टी लाइन से इतर बयानबाजी के कारण की गई है। उन्होंने बताया कि पार्टी की छवि धूमिल करने वाले बयानों को लेकर उन्हें पूर्व में भी चेतावनी दी गई थी, लेकिन लगातार बयानबाजी के कारण उन्हें पार्टी से निलंबित किया गया है।

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष डा. संजय जायसवाल की ओर से जारी निलंबन पत्र में राजीव रंजन को संबोधित किया गया है। इसमें लिखा है कि पार्टी के जिम्मेवाद पद पर रहते हुए आपके बयान पार्टी की मूल भावनाओं के विपरीत आ रहे हैं। इस विषय में आको मौखिक रूप से पहले भी बताया जा चुका था, इसके बावजूद पार्टी लाइन से हटकर आपके बयान सामने आ रहे हैं। यह सरासर पार्टी के अनुशासन का उल्लंघन है।