निवाड़ी। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान इन दिनों ऑन द स्पॉट अधिकारियों को निलंबित करने के लिए सुर्ख़ियों में बने हुए है। शिवराज सिंह चौहान ने बुधवार को निवाड़ी दौरे के दौरान मंच से कलेक्टर तरुण भटनागर को हटाने के आदेश दिए थे। CM शिवराज ने कलेक्टर तरुण भटनागर को जमीन के नामांतरण में लापरवाही और सरकारी भूमि में हेरफेर की शिकायतों के चलते हटाने के निर्देश दिए थे।

सीएम शिवराज के निर्देशों का पालन तो नहीं हुआ बल्कि, सागर संभाग के आयुक्त मुकेश कुमार शुक्ला ने तरुण भटनागर को अर्जित अवकाश दे दिया। सीएम शिवराज ने कलेक्टर की शिकायतें मिलने का हवाला देकर उन्हें मंच से ही हटाने का आदेश दिया था। गुरुवार को कलेक्टर को आदेश मिला है उसमें शिकायतों के कारण हटाने का जिक्र कहीं नहीं है।

Also Read: 10वीं पास उम्मीदवारों के लिए इस भर्ती में अप्लाई करने का यह आखरी मौका, इतनी मिलेगी सैलरी

शिवराज के इस फरमान के बाद कलेक्टर साहब की विदाई मानी जा रही थी। लेकिन जब शासन कि ओर से लिखित आदेश आया तो सभी हैरान रह गए, क्योंकि लिखित आदेश में लिखा गया कि कलेक्टर तरुण भटनागर अवकाश पर गए है। आदेश में कलेक्टर के अवकाश पर जाने की बात का जिक्र किया गया है। हालांकि गुरुवार शाम को जारी हुए एक आदेश में तरुण भटनागर को मंत्रालय में उपसचिव नियुक्त कर दिया। उनके स्थान पर अरुण कुमार विश्वकर्मा को निवाड़ी का कलेक्टर नियुक्त कर दिया।

सागर के संभागीय आयुक्त मुकेश कुमार शुक्ला ने जिला पंचायत सीईओ टीकमगढ़ के रूप में पदस्थ आईएस सिद्धार्थ जैन को निवाड़ी कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट का अतिरिक्त प्रभार सौंपा है। उन्होंने अपने लिखित आदेश में निवाड़ी कलेक्टर तरुण भटनागर द्वारा अर्जित अवकाश पर जाने की बात का उल्लेख किया गया है।

जानकारी के लिए आपको बता दे कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान बुधवार को गढ़कुंडार महोत्सव में शामिल होने निवाड़ी आए थे। यहां मंच से ही उन्होंने निवाड़ी जिला कलेक्टर तरुण भटनागर और ओरछा तहसीलदार संदीप शर्मा को हटाने के निर्देश दिए थे। सीएम ने कहा था कि निवाड़ी जिले के कलेक्टर ने अपेक्षाओं को पूरा नहीं किया है। कई तरह की शिकायत मिली हैं। मैं तत्काल प्रभाव से कलेक्टर को हटाता हूं।