सरस्वती पुत्र पुष्यमित्र भार्गव ने जीता 121 शहरों के महापौर का दिल, देखें प्रेजेंटेशन की ये झलकियां

‘राष्ट्रीय महापौर सम्मेलन’ में देशभर से भाजपा शासित शहरी स्थानीय निकायों के महापौर और उपमहापौर शामिल हुए हैं। इंदौर महापौर पुष्यमित्र भार्गव ने 121 शहरों के महापौर का दिल जीता।

गुजरात की राजधानी गांधीनगर में हो रहे दो दिवसीय ‘राष्ट्रीय महापौर सम्मेलन’ में सभी महापौर ने हिस्सा लिया। इस ‘राष्ट्रीय महापौर सम्मेलन’ में देशभर से भाजपा शासित शहरी स्थानीय निकायों के महापौर और उपमहापौर शामिल हुए हैं। इस दौरान इंदौर महापौर पुष्यमित्र भार्गव ने 121 शहरों के महापौर का दिल जीता। इंदौर की स्वच्छता, पर्यावरण और वाटर डिस्ट्रीब्यूशन पर हो रहे नवाचारों की जानकारी दी। सम्मेलन में करीब 18 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के 121 महापौर उपमहापौर और अन्य नवनिर्वाचित प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया और अपने विचार रखें। इस सम्मेलन में कई मुद्दों पर चर्चा की गई। सूरत, इंदौर, कानपुर और पणजी के मेयर कचरा प्रबंधन, साफ-सफाई और राजस्व बढ़ाने के लिए अपने द्वारा किए गए कार्यों की जानकारी दी।

‘राष्ट्रीय महापौर सम्मेलन’ गुजरात के गांधीनगर में आयोजित हो रहा है और इसमें इंदौर की धूम रही। महापौर पुष्यमित्र भार्गव ने प्रेजेंटेशन के माध्यम से इंदौर में किए गए विकास कार्यों के साथ स्वच्छता में किए जा रहे नवाचार की भी जानकारी साझा की। महापौर ने बताया कि स्वच्छता में हम लगातार पांच बार नवंबर 1 में जगह बना पाए हैं और हमें पूरा विश्वास है कि हम इस बार भी पहले पायदान पर ही रहेंगे। इंदौर की इस स्वच्छता के पीछे एनजीओ और जनता की जागरूकता का विशेष सहयोग है। एनजीओ लगातार जनता को डोर टू डोर कचरा कलेक्शन के लिए प्रेरित करती रहती है और डे बाय डे अवेयर भी करते रहते हैं। 20 मिनट के प्रेजेंटेशन के दौरान महापौर पुष्यमित्र भार्गव ने 121 शहरी के महापौरों को बताया कि किस तरीके से स्ट्रिक्ट होकर कठोर फैसले लेकर काम कराया जा सकता है।

Must Read- मौसम विभाग ने जारी किया भारी बारिश का अलर्ट, इन 10 जिलों में बिजली गिरने की संभावना की व्यक्त

महापौर पुष्यमित्र भार्गव ने गांधीनगर में महापौर दल के साथ सभी जगहों का दौरा भी किया। गुजरात गांधीनगर के सफाई कर्मियों से चर्चा की। भार्गव के साथ सेल्फी लेने वालों की भी जमकर भीड़ दिखाई दी। इस दौरान लोकल मीडिया ने भी इंदौर के भविष्य के प्रेजेंटेशन के बारे में कई महत्वपूर्ण जानकारी भी प्राप्त की। महापौर भार्गव गुजरात गांधीनगर के सफाई कर्मियों से भी मिले।

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा था कि शहरों में जो कूड़े के पहाड़ हैं, उनसे मुक्ति पाने के लिए हमें प्रयास बढ़ाने हैं। जैसे सूरत की बात होती है, इंदौर की बात होती है, कैसे हुआ, यही किया गया। अब इंदौर में कूड़े कचरे से उन्होंने गैस प्लांट बना दिया और उससे कमाई शुरू कर दी। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि एक प्रकार से उसमें से कमाई आना शुरू हो जाती है और सामाजिक संगठन भी इसके साथ जुड़ जाते हैं। मैं भी चाहूंगा कि इस दिशा में कहीं और भी प्रयत्न किए जाए।

महापौर पुष्यमित्र भार्गव ने संबोधन के दौरान कहा कि इंदौर शहर की स्वच्छता सर्वेक्षण में लगातार पांचवीं बार नंबर बनाया है। इंदौर स्वच्छता में छक्का लगाने की भी अब जोरदार तैयारी कर रहा है। देश का सबसे स्वच्छ शहर होने के कारण इंदौर अन्य शहरों के लिए मॉडल सिटी बनकर उभर रहा है। स्वच्छता का सीक्रेट जानने अलग-अलग देशों और राज्यों से जनप्रतिनिधि और अधिकारियों का दल लगातार इंदौर आता है और कई जानकारी लेकर अपने शहर को भी स्वच्छ बनाने का प्रयास कर रहे हैं। आपको बता दें कि कल पीएम मोदी इस कार्यक्रम में वर्चुअल रूप से जुड़े थे। पीएम मोदी ने भाजपा के मेयरों के इस कार्यक्रम को संबोधित किया।