बॉलीवुड अभिनेता अक्षय कुमार की ‘राम सेतु’ 25 अक्टूबर को सिनेमाघरों में रिलीज हुई है। अब रिलीज के बाद फिर फिल्म से विवाद जुड़ गया है। एक पंजाबी इतिहासकार अशोक कुमार कैंथ ने दावा किया है कि फिल्म उनके शोध कार्य पर आधारित है। उन्होंने फिल्म के मेकर्स को कोर्ट में घसीटने की धमकी दी है।
साथ ही उन्होंने इस फिल्म पर बैन लगाने की मांग की है।

कॉपीराइट उल्लंघन का मामला

दरअसल श्रीलंका में काम करने वाले रामायण अनुसंधान समिति के विभाग के प्रमुख अशोक कुमार ने आरोप लगाया है कि फिल्म में उनके शोध कार्य और जीवन की कहानी को बिना अनुमति के कॉपी किया गया है। उन्होंने इसे कॉपीराइट के उल्लंघन का मामला बताया है। उन्होंने फिल्म देखने के बाद मेकर्स के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की मांग की है। बता दें कि रामायण अनुसंधान समिति का गठन 2006 में किया गया था।

अक्षय कुमार का किरदार इतिहासकार अशोक कुमार से प्रेरित

अशोक कुमार ने कहा कि फिल्म का मुख्य पात्र डॉक्टर आर्यन उनकी जीवन की कहानी पर आधारित है।उन्होंने बताया कि उनके शोध कार्य को उनकी अनुमति के बिना फिल्म में उनकी वेबसाइट से लिया गया है। उन्होंने कहा कि श्रीलंका में रामायण के तथ्यों की खोज जैसे उन्होंने की थी, उसी घटनाक्रम को फिल्म में पेश किया गया है। बता दें कि अक्षय ने ही फिल्म में पुरातत्त्वविद डॉक्टर आर्यन का किरदार निभाया है।

Also Read: Maharashtra : अमरावती में दो मंजिला ईमारत गिरने से 5 की मौत, दो लोग घायल

भाजपा नेता सुब्रमण्यम ने भी भेजा था नोटिस

हाल में भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने ‘राम सेतु’ को लेकर अभिनेता अक्षय कुमार पर हमला बोला था। उन्होंने फिल्म के विवाद को लेकर अक्षय के साथ ही आठ अन्य लोगों को कानूनी नोटिस भेजा था। उन्होंने दावा किया था कि फिल्म में तथ्यों के साथ छेड़छाड़ की गई है। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा था, ‘मुंबई सिनेमा वाले लोगों को झूठ बोलने और चीजों के गलत इस्तेमाल करने की बुरी आदत है।