राष्ट्रपति उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू पहुंची भोपाल, सीएम शिवराज ने किया स्वागत, जानें एमपी का आदिवासी रिपोर्ट कार्ड

आदिवासी कला-संस्कृति के साथ राजधानी भोपाल में राष्ट्रपति प्रत्याशी द्रोपदी मुर्मू की अग़वानी हुई.

MP: देश में आदिवासी इन दिनों एक बड़ा मुद्दा बन चुका है. देसी पहेली महिला आदिवासी उम्मीदवार द्रौपदी मुरमू आज भोपाल पहुंची जहां सीएम शिवराज सिंह चौहान ने उनका स्वागत किया. ढोल मांदल किताब पर उनकी अगवानी की गई.

भोपाल पहुंची द्रौपदी मुर्मू सांसदों और विधायकों से मुलाकात करने वाली हैं. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सहित प्रदेश के केंद्रीय मंत्री संगठन महामंत्री गीत आनंद शर्मा और बड़े नेता वहां पर मौजूद है. पंकजा मुंडे मुर्मू के साथ भोपाल पहुंची. मुर्मू शाम को वापस दिल्ली लौट जाएंगी.

यहां फेल हुआ MP अजजा के बैकलॉग के 30 हजार पद पड़े हैं खाली. प्रमोशन में दिए जाने वाले आरक्षण पर सुप्रीम कोर्ट की सुनवाई में 30 बार सरकारी वकील नहीं हुए उपस्थित. 10 राज्यों में जनजातीय स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों का एक संग्रहालय बनाने की बात की गई थी. पीएम ने इस संग्रहालय का उद्घाटन किया था और मप्र इसे पांच साल से बनाया जा रहा है. केंद्र सरकार से मिले पैसे में से अभी 500 करोड़ रु. राज्य सरकार के पास रखे हुए हैं. आदिवासी के लिए 31 परियोजनाएं बनाई गई थी लेकिन ये 2015-16 से बंद हैं.

मध्यप्रदेश में 2015 से अभी तक अजजा के विकास के लिए दिया गया 5 हजार करोड़ रु. बजट लैप्स हो गया है. यहां पास हुआ MP आदिवासियों की आमदनी बढ़ाने के लिए सरकार की ओर से प्रदेश में 107 वन-धन केंद्रों की स्थापना की गई है. साहूकारों के शोषण से बचाने और विकास के लिए 89 विकासखंडों में लागू हुआ पैसा एक्ट. आदिवासियों में बढ़ते कुपोषण को रोकने के लिए राज्य सरकार द्वारा उन्हें सब्जी, फल और दूध के लिए हर महीने एक हजार रुपए दिया जाना तय हुआ है. आदिवासी विद्यार्थियों को उच्च शिक्षा दिलाने और दूसरे राज्यों में पढ़ाई के इच्छुक विद्यार्थियों को पैसा सरकार की ओर से दिया जाएगा.