नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को दिल्ली के हैदराबाद हाउस में मिस्र (Egypt) के राष्ट्रपति अब्देल फतेह अल सिसी (Abdel Fattah el-Sisi) के साथ बैठक की। गणतंत्र दिवस समारोह में शामिल होने के लिए मिस्र के राष्ट्रपति अब्देल फतह अल-सिसी भारत आये है। मंगलवार को राष्ट्रपति सिसी अपनी राजकीय यात्रा पर भारत आए।

बुधवार को अब्देल फतह अल सीसी राष्ट्रपति भवन पहुंचे, जहां राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उनका पूरे राजकीय सम्मान से स्वागत किया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रपति अब्देल फतेह अल सिसी से मुलाकात की। यहां दोनों के बीच कई मुद्दों पर चर्चा हुई। इस बैठक के बाद PM मोदी ने कहा कि आतंकवाद मानवता के लिए खतरा है। दोनों देश मिलकर आतंकवाद के खिलाफ पूरी दुनिया को सचेत करेंगे। साथ ही रक्षा उद्योग को मजबूत करने और खूफिया सूचनाओं के आदान-प्रदान का भी फैसला लिया गया है।

Also Read – पठान का पहले ही दिन विरोध, इंदौर में कई शो रद्द, ग्वालियर के थिएटर में आग लगाने की धमकी, देखें वीडियो

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि भारत और मिस्र विश्व की सबसे पुरानी सभ्यताओं मे से हैं। हमारे बीच कई हजारों सालों का रिश्ता रहा है। पीएम मोदी से मुलाकात के बाद अब्देल फत्ताह अल-सिसी ने कहा, मैं 2015 में न्यूयॉर्क में पीएम मोदी से मिला था और मुझे उन पर पूरा भरोसा था। मुझे पता था कि वह अपने देश को आगे ले जाएंगे। मैंने हमारे संबंधों को आगे बढ़ाने के लिए प्रधानमंत्री मोदी को काहिरा, मिस्र में आमंत्रित किया है।

पीएम ने बताया कि भारत ने इस साल अपनी G-20 अध्यक्षता के दौरान मिस्र को गेस्ट देश के रूप आमंत्रित किया है। यह हमारी खास दोस्ती को दिखाता है। पीएम मोदी ने कहा, हमने मिस्र के साथ अपने द्विपक्षीय संबंधों को रणनीतिक साझेदारी के स्तर तक ले जाने का फैसला किया है। हमने फैसला किया है कि भारत-मिस्र सामरिक साझेदारी के तहत हम राजनीति, सुरक्षा, अर्थशास्त्र और विज्ञान के क्षेत्र में अधिक सहयोग के लिए एक दीर्घकालिक रूपरेखा विकसित करेंगे। बैठक में दोनों देशों के बीच राजनीतिक, सुरक्षा, आर्थिक और वैज्ञानिक क्षेत्रों में सहयोग बढ़ाने पर सहमति बनी।

जानकारी के लिए आपको बता दे कि, मिस्र के राष्ट्रपति अब्देल फतेह अल सिसी 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस समारोह में मुख्य अतिथि बनने वाले मिस्र के पहले राष्ट्रपति होंगे। मिस्त्र की सेना की एक टुकड़ी भी परेड में शामिल होगी। मिस्र के राष्ट्रपति सिसी भारत के 74वें गणतंत्र दिवस पर मुख्य अतिथि हैं।

Read More : बागड़ी के साथ हुए व्यवहार को लेकर अग्रवाल समाज ने की पुनर्विचार की मांग, पत्रकार वार्ता में कोंग्रेस के इस कदम को बताया समाज का अपमान