पटियाला के विधायक, महापौर एवं प्रशासनिक अधिकारियो ने देखा इंदौर का सॉलिड वेस्ट मेनेजमेंट

शहर को ओडीएफ मुक्त कैसे किया, पहले गीला-सुखा कचरा संग्रहित किया जाता है, अब हर दिन 6 बिन की तर्ज पर 6 प्रकार का कचरा संग्रहित किया जा रहा है।

इंदौर। आयुक्त प्रतिभा पाल ने बताया कि स्वच्छता में लगातार पांचवीं बार नंबर वन इंदौर शहर की स्वच्छता एवं सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट को देखने के लिए देश के विभिन्न प्रदेश/शहर के जनप्रतिनिधि एवं प्रशासनिक अधिकारी आ रहे है, इसी क्रम में आज पटियाला शहर के जनप्रतिनिधि एवं प्रशासनिक अधिकारियों का दल आया है, जिसमें गुरदेव सिंह, विधायक नाभा, संजीव शर्मा बिट्टू, मेयर, एमसी, पटियाला, आदित्य उप्पल, आईएएस, आयुक्त, एमसी, पटियाला गौतम जैन, आईएएस, एडीसी-यूडी, पटियाला जतिंदर पाल सिंह, निगम अभियंता, एमसी, पटियाला ऋषभ गुप्ता, सेनेटरी इंस्पेक्टर, एमसी, पटियाला द्वारा शहर के सॉलिड वेस्ट मेनेजमेंट के साथ ही डोर टू डोर कचरा संग्रहण, कचरा सेग्रिगेशन, देवगुराडिया स्थित टेचिंग ग्राउण्ड, एसटीपी प्लांट, सीटी बस आफिस स्थित आईसीसीसी कमांड सेंटर का अवलोकन किया गया।

इंदौर के सॉलिड वेस्ट मेनेजमेंट व स्वच्छता अभियान को देखने आए पटियाला के जनप्रतिनिधि एवं प्रशासनिक अधिकारियों के साथ कलेक्टर मनीष सिंह एवं आयुक्त प्रतिभा पाल द्वारा सीटी बस आफिस में प्रेजेटेशन के माध्यम से स्वच्छता अभियान की विस्तार से जानकारी दी गई। इस अवसर पर अपर आयुक्त संदीप सोनी, अधीक्षण यंत्री महेश शर्मा, एनजीओ प्रमुख कैप्टन सनपीत सिंह, सहायक यंत्री सौरभ माहेश्वरी, श्रद्धा तोमर व अन्य विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।

Must Read- दीपों से रोशन होगी इंदौर नगरी, गौरव दिवस के लिये बनने लगा है उत्साह का वातावरण

इस अवसर पर कलेक्टर मनीष सिंह एवं आयुक्त प्रतिभा पाल द्वारा प्रेजेटेशन के माध्यम से इंदौर के स्वच्छता अभियान के विस्तृत जानकारी देते हुए, बताया कि किस प्रकार से पूर्व में इंदौर में जगह-जगह कचरा पेटिया हुआ करती थी, जिस कचरा पेटी के आस-पास कचरे के ढेर लगा हुए होते थे, इसके पश्चात इंदौर ने स्वच्छता अभियान के तहत इंदौर को कचरा पेटी से मुक्त करते हुए, डोर टू डोर कचरा संग्रहण वाहन चलाये, जिनका जीपीएस सिस्टम के माध्यम से मॉनिटरिंग किया जा रहा है, सभी कचरा संग्रहण वाहनो अपने निर्धारित रूट व समय पर अपने कार्य क्षेत्र में कार्य कर रहे है।

शहर को ओडीएफ मुक्त कैसे किया, पहले गीला-सुखा कचरा संग्रहित किया जाता है, अब हर दिन 6 बिन की तर्ज पर 6 प्रकार का कचरा संग्रहित किया जा रहा है। थैला बैंक, बर्तन बैंक, डिस्पोजल फ्री क्षेत्र, जीरो वेस्ट इवेंट, जीरो वेस्ट शादी, नाला सफाई अभियान, नाला क्रिकेट, नाला मेडिकल चेकअप, नाला फुटबॉल, नाला दंगल व अन्य गतिविधियें के संबंध में विस्तार से जानकारी दी गई। साथ ही डोर टू डोर कचरा संग्रहण वाहनो से संग्रहित कचरे को गारबेज कचरा ट्रांसर्फर स्टेशन तक किस प्रकार से पहुंचाया जा रहा है, इस सेग्रिगेट कचरे को किस प्रकार से ट्रेचिंग ग्राउण्ड पर डिसेंटलाईज्ड मटेरियल रिकवरी प्लांट व ड्राय वेस्ट प्रोसेसिंग प्लांट, कम्पोस्ट प्लांट में प्रोसेस किया जा रहा है। इसके साथ ही टेचिंग ग्राउण्ड में निर्माणधीन बायागैस प्लांट के संबंध में भी विस्तार से जानकारी देते हुए, बताया कि यह एशिया को बडा बायोगैस सीएनजी प्लांट है जहां पर गीले कचरे से बायोगैस का निर्माण किया जाकर उसे लोक परिवहन में उपयोग किया जा रहा है।

Must Read- T20 Series Team India: भारतीय टीम का ऐलान, केएल राहुल बने टीम इंडिया के कप्तान

पटियाला के जनप्रतिनिधि एवं प्रशासनिक अधिकारियों के दल द्वारा इंदौर शहर नगर निगम ठोस अपशिष्ट प्रबंधन के क्षेत्र में विभिन्न प्रकार के प्रसंस्करण जैसे खाद, जैव-मिथेनाइजेशन, ऊर्जा से ऊर्जा, बायो-सीएनजी द्वारा ईंधन वाली सिटी बसों आदि के साथ एकीकृत तरीके से विभिन्न नवीन प्रथाओं को लागू करने के साथ ही स्वच्छ सर्वेक्षण 2021 द्वारा इंदौर को पांचवें वर्ष के लिए भारत का सबसे स्वच्छ शहर का दर्जा मिलने पर शहर द्वारा हासिल की गई उपलब्धियों तथा शहर के सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट के साथ आज प्रातः न्याय नगर में डोर टू डोर कचरा संग्रहण कार्य, स्टार चौराहा स्थित जीटीएस सेंटर, ट्रेचिंग ग्राउण्ड उद्यान स्थित 400 टीपीडी मेकेनाईज्ड एमआरएफ प्लांट, 550 टीपीडी बायो सीएनजी प्लांट, 100 टीपीडी सी एंड डी वेस्ट प्रोसेसिंग प्लांट, वेस्ट बायोमेडिटेशन साईट, कबीटखेडी स्थित 245 एमएलडी एटीपी प्लांट, स्लज हाईजिनेशन प्लांट तथा सीटी बस आफिस स्थित आईसीसीसी कन्ट्रोल कमांड सेंटर का अवलोकन किया गया। इसके साथ ही रात्रि में पटियाला के जनप्रतिनिधि एवं प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा सयाजी चौराहा क्षेत्र में मेकेनाईज्ड स्वीपिंग मशीन के कार्य का भी अवलोकन किया जायेगा। इस अवसर पर कार्यपालन यंत्री अनूप गोयल, सहायक यंत्री सौरभ माहेश्वरी, सुश्री श्रद्धा तोमर व अन्य विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।