पंचकोशी यात्रा: कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक पहुंचे पिंगलेश्वर, किया व्यवस्थाओं का निरीक्षण

कलेक्टर ने पिंगलेश्वर पड़ाव पर लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग द्वारा की गई पेयजल व्यवस्था एवं स्नान लिए लगाए गए फव्वारों को जाकर देखा तथा निर्देश दिए कि पेयजल के लिए लगाए गए सभी नलों में टोटियां आज लगा दी जाए।

उज्जैन। 25 अप्रैल से पंचकोशी यात्रा प्रारंभ हो रही है। विभिन्न पड़ाव स्थलों पर जिला पंचायत द्वारा पंचक्रोशी यात्रियों के लिए सुविधाएं जुटाई जा रही है ।कलेक्टर आशीष सिंह एवं पुलिस अधीक्षक से सत्येंद्र कुमार शुक्ल ने आज प्रशासनिक अमले के साथ प्रथम पड़ाव स्थल पिंगलेश्वर एवं शनि मंदिर पर की जा रही व्यवस्थाओं का जायजा लिया।कलेक्टर ने निर्देश दिए हैं कि शनि मंदिर पर यात्रियों की सुविधा के लिए किये जा रहे सब काम आज रात्रि में समाप्त हो जाना चाहिए। उन्होंने पिंगलेश्वर पड़ाव स्थल पर यात्रियों के लिए की गई पेयजल एवं छाया की व्यवस्था के कार्य पर संतोष व्यक्त करते हुए सभी कार्य आज रात्रि में समाप्त करने के निर्देश दिए है । कलेक्टर ने साथ ही आगामी 30 अप्रैल को आयोजित होने वाली शनिचरी अमावस्या की व्यवस्थाओं के बारे में भी शनि मंदिर पर अधिकारियों से चर्चा की एवं दिशा निर्देश दिए . निरीक्षण के दौरान एडीएम संतोष टैगोर , ए एस पी आकाश भूरिया, एस डी एम गोविंद दुबे एवं अन्य विभागीय अधिकारी मौजूद थे।

Must Read- पंचकोशी यात्रियों का पहला जत्था पहुंचा पिंगलेश्वर, जोर-शोर से हुआ स्वागत 

कलेक्टर ने पिंगलेश्वर पड़ाव पर लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग द्वारा की गई पेयजल व्यवस्था एवं स्नान लिए लगाए गए फव्वारों को जाकर देखा तथा निर्देश दिए कि पेयजल के लिए लगाए गए सभी नलों में टोटियां आज लगा दी जाए। इसी तरह उन्होंने निर्मित किए जा रहे अस्थाई शौचालयों का निरीक्षण भी किया। कलेक्टर ने जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी को को बिजली के बेकअप के लिए जनरेटर की व्यवस्था करने के निर्देश दिए हैं। कलेक्टर ने इसके बाद पिंगलेश्वर में स्वास्थ्य विभाग द्वारा बनाए गए 6 बेडेड अस्थाई अस्पताल का निरीक्षण किया एवं निर्देश दिए कि पर्याप्त दवाएं एवं यात्रियों को पांव में लगाने के लिए मलहम उपलब्ध कराया जाए। साथ ही उन्होंने पड़ाव स्थल पर खाद्य विभाग द्वारा लगाई जाने वाली दुकानों एवं आवश्यक सामग्रियों की निर्बाध आपूर्ति करने के लिए भी निर्देशत किया है। उल्लेखनीय है कि 25 अप्रैल से शुरू होने वाली और पांच दिनों तक चलने वाली पंचक्रोशी यात्रा 118 किलोमीटर दूरी तय करते हुए 29 अप्रैल 2022 को समाप्त होगी।

जिला प्रशासन एवं जिला पंचायत द्वारा की जा रही है विभिन्न व्यवस्थाएं

पंचक्रोशी यात्रा के दौरान विभिन्न पड़ावों, उपपड़ावों पर यात्रियों के ठहरने के दौरान उनके लिये टेन्ट, प्रकाश व्यवस्था, शामियाने, भोजन के लिये विभिन्न सामग्री, पेयजल, सफाई, दूध, चिकित्सा, एम्बुलेंस, अग्निशमन व्यवस्था, शौचालय, फव्वारे इत्यादि व्यवस्थाएं कलेक्टर श्री आशीष सिंह के निर्देश पर जिला पंचायत एवं विभिन्न सम्बन्धित विभागों द्वारा की जा रही है। इसी तरह यात्रा मार्ग पर मधुमक्खियों के छत्ते हटाये जा रहे हैं। चिकित्सा विभाग द्वारा प्रत्येक पड़ाव पर यात्रियों को दवाईयों के साथ-साथ पैरों में लगाने के लिये मलहम की व्यवस्था की जाती है। प्रत्येक पड़ाव स्थल पर अस्थाई अस्पताल, उचित मूल्य की दुकान, कंडे आदि की व्यवस्था की पर्याप्त रूप से की जा रही है।