भारत का नया नक्शा देख पाक को लगी मिर्ची, किया खारिज़

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक जम्मू-कश्मीर केंद्र शासित प्रदेश के मानचित्र में 20 जिले शामिल हैं, जिसमें मुजफ्फराबाद, मीरपुर और पुंछ के वे क्षेत्र शामिल हैं, जो पीओके में है।

0
82
Imran Khan

श्रीनगर: जम्मू-कश्मीर ओए लद्दाख को अलग केंद्र शासित प्रदेश बनाने के बाद शनिवार को इसका नया नक्शा जारी किया गया। भारत का ये नया नक्शा देखकर पाकिस्तान को फिर मिर्ची लग गई है। इसको लेकर पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने रविवार को एक बयान जारी किया है।

पाक विदेश मंत्रालय ने कहा कि भारत द्वारा 2 नवंबर को जारी किया गया मानचित्र गलत, कानूनी रूप से अवैध और अमान्य है और यह संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद प्रस्तावों का पूरी तरह से उल्लंघन है। पाकिस्तान इन राजनीतिक मानचित्रों को खारिज करता है जो संयुक्त राष्ट्र के मानचित्र से मेल नहीं खाते हैं।

नए मानचित्र के मुताबिक जम्मू-कश्मीर के पूर्ववर्ती राज्य के विभाजन को दर्शाया गया है। इसमें आश्चर्यजनक रूप से पीओके के तीन जिलों मुजफ्फराबाद, पंच और मीरपुर को शामिल किया गया है। वहीं लद्दाख में दो जिले कारगिल और लेह शामिल हैं, जबकि जम्मू-कश्मीर केंद्र शासित प्रदेश में 20 जिले शामिल किए गए हैं।

एक गजट अधिसूचना में सरकार ने कारगिल के वर्तमान क्षेत्र को छोड़कर लेह जिले के क्षेत्रों गिलगिट, गिलगित वजारत, चिलास, जनजातीय क्षेत्र व लेह और लद्दाख को भी संकलित किया है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक जम्मू-कश्मीर केंद्र शासित प्रदेश के मानचित्र में 20 जिले शामिल हैं, जिसमें मुजफ्फराबाद, मीरपुर और पुंछ के वे क्षेत्र शामिल हैं, जो पीओके में है।

जम्मू एवं कश्मीर 31 अक्टूबर को एक राज्य के रूप में अस्तित्व में नहीं रह गया और आधिकारिक तौर पर दो केंद्र शासित प्रदेशों जम्मू एवं कश्मीर और लद्दाख में विभाजित हो गया। गौरतलब है कि 5 अगस्त को मोदी सरकार ने जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटाकर राज्य से विशेष राज्य का दर्जा छीन लिया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here