तेल उत्पादन कम करेंगे OPEC देश, बढ़ सकती है पेट्रोल-डीजल की कीमत

0
40
Petrol -Diesel

नई दिल्ली। तेल उत्पादकों देश (ओपेक) द्वारा कच्चे तेल के उत्पादन में कटौती किए जाने के चलते आने वाले दिनों मंें पेट्रोल-डिजल के दामों में इजाफा हो सकता है।

मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो ओपेक के सदस्य देशों और रूस जैसे अन्य तेल उत्पाद देशों के बीच ये सहमति बनी है कि कच्चे तेल के रोजाना उत्पादन में 5 लाख बैरल की अतिरिक्त कमी की जाएगी। यह समझौता 1 जनवरी 2020 से लागू होगा।

खबरों के मुताबिक तेल उत्पादक देशों का मानना है कि फिलहाल वैश्विक बाजार में कच्चे तेल की आपूर्ति जरूरत से ज्यादा हो रही है, जिसके चलते कीमतों में गिरावट हो सकती है। बता दे कि इससे पहले इन देशों के बीच अक्टूबर 2018 के स्तर से 12 लाख बैरल उत्पादन कम करने की सहमति बनी थी। जुलाई में इस समझौते को और आगे के लिए प्रभावी किया गया था और कटौती मार्च 2020 तक बनाए रखने का फैसला लिया गया था।

ऐसे में माना जा रहा है कि पेट्रोल और डीजल की दामों में इजाफा हो सकता है। बता दे कि भारत विश्व का तीसरा सबसे बड़ा तेल आयातक देश है। भारत अपनी जरूरत का 80 फीसदी तेल ओपेक देशों से आयात करता है। वहीं भारत में पेट्रोल-डीजल के दाम कच्चे तेल के भाव के आधार पर तय होती हैं।

केडिया कमोडिटी के निदेशक अजय केडिया का कहना है कि ओपेक के इस फैसले से कच्चे तेल के भाव में करीब 4 डॉलर प्रति बैरल तक बढ़ सकते हैं। इससे देश में पेट्रोल-डीजल के भाव करीब 2 रुपये प्रति लीटर तक बढ़ सकेत हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here