अब 5G की गति से चलेगा भारत, नीलामी को मिली मंजूरी, साल 2022 में ही हो सकता है लॉन्च

5 G स्पेक्ट्रम नीलामी को मंज़ूरी, 2022 में शुरू हो सकती है 5G सेवाए 13 शहरों में मिलेगी सबसे पहले 5G स्पीड

केंद्रीय केबिनेट ने 5 G स्पेक्ट्रम नीलामी को मंज़ूरी दे है। जल्द ही भारतीयों को मिल सकती है 5 G इंटरनेट सेवाएं।
केंद्रीय केबिनेट की बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने की घोषणा। बीस वर्षो के लिए होगी 5 G स्पेक्ट्रम की नीलामी, जोकि जुलाई के अंत तक शुरू हो जाएगी । साल 2022 के अंत तक हो सकता है। लॉन्च  ज्ञातव्य है कि टेलीकॉम कंपनियों ने काफी समय से दे रखा है 5 G स्पेक्ट्रम की नीलामी का प्रस्ताव ,जिस पर केंद्रीय केबिनेट ने अब मंज़ूरी दी है। 72 गीगाहर्ट्ज से अधिक स्पेक्ट्रम की होगी नीलामी।

Read More : ब्लू आउटफिट पहन Kiara Advani ने बिखेरा अपने हुस्न का जलवा, फोटो वायरल

भारत के इन 13 शहरों में मिलेगी सबसे पहले 5 G इंटरनेट सेवाएं

केंद्रीय केबिनेट की 5 G स्पेक्ट्रम नीलामी को मंज़ूरी की घोषणा के बाद , डिपार्टमेंट ऑफ़ टेलीकम्युनिकेशन ( DOT) ने प्रेस रिलीज़ के माध्यम से बताया की भारत के 13 शहरों में 5 G इंटरनेट सेवाएं सबसे पहले होंगी शुरू। दिल्ली ,मुंबई ,चैन्नई , कोलकाता चारों महानगरों के साथ ही अहमदाबाद ,बेंगलुरु ,चंडीगढ़ ,गुरुग्राम ,गांधीनगर , जामनगर , हैदराबाद ,लखनऊ और पुणे आदि शहरों में मिलगी 5 G स्पीड सेवाएं।

कई कंपनियां पहले ही लॉन्च कर चुकी हैं 5 G स्मार्ट फोन

Read More : Indore: BJP महापौर प्रत्याशी पुष्यमित्र भार्गव पहुंचे विष्णु प्रसाद शुक्ला के घर, कहा- बेटे और पोते में है मुकाबला

वर्ष 2021 में कई मोबाईल कंपनियों ने 5 G स्मार्ट फोन लॉन्च किए थे , जोकि की अब तक खरीदने वाले ग्राहक के लिए उतने फायदेमंद नहीं रहे । मगर अब जल्द ही शुरू हो रही 5 G सर्विस के बाद भारत के इंटरनेट यूज़रों को 5G गति मिलने वाली है। डिपार्टमेंट ऑफ़ टेलीकम्युनिकेशन ( DOT) ने जानकारी दी है कि उपरोक्त 13 शहरों के अलावा भारत के अन्य शहरों में भी 5G स्पीड सुविधा जल्द ही मिल सकती है।

प्रधानमंत्री ने केबिनेट की बैठक में बताया कि इस दशक के अंत तक 6G स्पीड सुविधा भी भारत में उपलब्ध होगी ,जिसके लिए हमारी टास्क फ़ोर्स काम शुरू कर चुकी है । प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने यह भी बताया की आने वाले डेढ़ दशक में 5G से देश की अर्थव्यवस्था में 450 बिलियन डॉलर का योगदान होने वाला है , यानी ये सिर्फ इंटरनेट की गति नहीं बल्कि प्रगति ,एम्प्लायमेन्ट ,जनरेशन की गति को भी बढ़ाने वाला है।