MP नगरीय निकाय चुनाव: इंदौर में पहले चरण में होगा मतदान, आचार संहिता हुई लागू

नगरीय निकाय चुनावों की तारीखों का ऐलान करते हुए राज्य निर्वाचन आयुक्त बीपी सिंह ने बता दिया है कि इंदौर सहित 133 निकायों में 6 जुलाई को वोट डालेंगे और 17 को रिजल्ट आएगा.

Indore: मध्यप्रदेश में नगर निकाय के चुनाव दो चरणों में कराए जा रहे हैं 6 जुलाई को पहले चरण और 13 जुलाई को दूसरे चरण के मतदान होना है पहले चरण के नतीजे 17 जुलाई और दूसरे चरण के नतीजे 18 जुलाई को घोषित होंगे भोपाल इंदौर ग्वालियर और जबलपुर में पहले चरण में चुनाव होने की जानकारी दी गई है. चुनाव की तारीखों का ऐलान होते ही आचार संहिता भी लागू कर दी गई है.

चुनाव के बारे में जानकारी देते हुए उन्होंने बताया कि 6 जुलाई को पहले चरण का मतदान और 13 जुलाई को दूसरे चरण का मतदान किया जाएगा पहले चरण के नतीजे 17 जुलाई को और दूसरे चरण के नतीजे 18 जुलाई को घोषित किए जाएंगे. कुल 347 निकायों में चुनाव होना है पहले चरण में 133 और दूसरे चरण में 214 निकायों पर चुनाव होंगे. सभी निकायों पर चुनाव कराने के लिए प्रदेश में 19,977 मतदान केंद्र बनाए गए हैं जिन पर 87,937 कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई जाएगी ईवीएम के जरिए ही मतदान होंगे जिसका समय सुबह 7:00 से शाम 5:00 बजे तक रखा गया है.

Must Read- MP नगरीय निकाय चुनाव का ऐलान: दो चरण में होंगे चुनाव, पहले 133 फिर 214 निकायों में डलेंगे वोट

राज्य निर्वाचन आयुक्त बीपी सिंह ने बताया कि 11 जून से नामांकन जमा होंगे. 18 जून को नामांकन प्राप्त करने की अंतिम तारीख रहेगी. नाम वापस लेने की अंतिम तारीख 22 जून में रहेगी. 22 जून को ही प्रतीक चिन्हों का आवंटन हो जाएगा. नगर निगम के महापौर सीधे जनता चुनेगी. किसी ने भी झूठा शपथ पत्र दिया तो उस पर केस दर्ज किया जाएगा. सभा और रैलियों के लिए अनुमति लेना जरूरी कर दिया गया है. इंदौर भोपाल में 5-5 ईवीएम मशीनें चुनाव के लिए रिजर्व रखी जाएगी. चुनाव में नोटा का विकल्प भी उपलब्ध कराया गया है.

बता दें कि प्रदेश के 397 नगरीय निकाय में चुनाव कराए जाने के लिए आरक्षण प्रक्रिया पूरी कर ली गई है. 99 नगर पालिका में ओबीसी का आरक्षण 25 से बढ़कर 28% पहुंच गया है. 2015 में नगर पालिका में ओबीसी के लिए 25 सीटें आरक्षित थी जो अब 28 हो गई है. नगर निगम में ओबीसी आरक्षण 25% और नगर परिषद में 24.16 प्रतिशत देखा गया.

जिला पंचायत अध्यक्ष के लिए भी आरक्षण प्रक्रिया कर ली गई है. 52 में से 4 सीट ओबीसी के लिए रिजर्व की गई है. यहां पिछली बार के मुकाबले 9 सीटें कम है. 2014-15 में ओबीसी के लिए 13 सीट आरक्षित की गई थी. नगर निगम में 16, नगर पालिका में 99 और नगर परिषद में 298 सीटें हैं.