नई दिल्ली। न्यूयॉर्क-दिल्ली उड़ान में महिला से बदसलूकी और उन पर पेशाब करने वाले शंकर मिश्रा को दिल्ली पुलिस ने बेंगलुरु से गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी एफआईआर दर्ज होने के बाद से फरार चल रहा था। जानकारी के मुताबिक उसे दिल्ली भी लाया जा चुका है। पुलिस ने उसके खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी कर रखा था। बताया गया है कि आरोपी शंकर मिश्रा को शुक्रवार रात को ही पकड़ लिया गया था।

बता दे कि 26 नवंबर को एअर इंडिया (Air India) की न्यूयार्क-दिल्ली उड़ान (New York-Delhi flight) के बिजनेस क्लास में शंकर मिश्रा ने नशे की स्थिति में कथित रूप से एक 70 साल की बुजुर्ग महिला यात्री के ऊपर पेशाब कर दिया था। मिश्रा ने अपने वकीलों- इशानी शर्मा और अक्षत वाजपेयी के माध्यम से जारी बयान में कहा कि उन्होंने 28 नवंबर को ही महिला के कपड़े एवं बैग धुलवा दिए थे और 30 नवंबर को उनके पास भेज दिए थे।

Also Read – देश में बढ़ते कोरोना संक्रमण के बीच इंदौरियों के लिए Good News, बढ़ाई सैंपलिंग फिर भी नहीं मिला कोई संक्रमित

शंकर मिश्रा (Shankar Mishra) की लास्ट लोकेशन बेंगलुरु थी, उसी आधार पर उसकी खोजबीन की जा रही थी। बताया जा रहा है कि 3 जनवरी को शंकर मिश्रा (35) का मोबाइल फोन बेंगलुरु में एक्टिव था। लेकिन उसके बाद उसका फोन स्विच ऑफ है। मामला तूल पकड़ने के बाद आरोपी शंकर मिश्रा को उसकी कंपनी वेल्स फार्गो (Wells Fargo) ने टर्मिनेट कर दिया है।

आरोपी शंकर मिश्रा के वकील ने दावा किया था कि उनके मुवक्किल ने पीड़िता को मुआवजे के तौर पर 15 हजार रुपए का भुगातन किया था, जिसे बाद में पीड़िता के परिवार ने लौटा दिया। बयान में कहा गया है कि आरोपी और महिला के बीच व्हाट्सएप संदेश (WhatsApp messages) स्पष्ट रूप से दिखाते हैं कि आरोपी ने 28 नवंबर को कपड़े और बैग साफ करवाए थे और 30 नवंबर को उन्हें डिलीवर किया गया था। वकीलों ने दावा किया है कि शंकर मिश्रा ने महिला को मुआवजे के तौर पर 15 हजार रुपये दिए थे। मामले में आरोपी के खिलाफ भादंवि की धारा 354, 509 और भारतीय विमानन कानून की धारा 23 के तहत केस दायर किया गया है।