नई दिल्ली। लाॅकडाउन के कारण लंबे समय से स्थगित जेईई और नीट की परीक्षा पर अब तस्वीर साफ हो चुकी है। सितबंर में तय समय में भी अब दोनों परीक्षा को लिया जाएगा। हालांकि अब भी कई छात्र इसे स्थगित करने की मांग कर रहे हैं।

इसी बीच बुधवार को कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी कांग्रेस शासित प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों के अलावा कांग्रेस समर्थित सरकारों के मुख्यमंत्रीयों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरीए बैठक की। इस बैठक के दौरान सोनिया गांधी और ममता बनर्जी ने नीट-जेईई की परीक्षा को स्थगित करने का मुद्दा उठाया।

ममता बनर्जी का कहना है कि जब केंद्र सरकार कोशिश नहीं कर रही है तो सभी राज्य सरकारों को सुप्रीम कोर्ट से एग्जाम टालने की मांग करनी चाहिए। इस दौरान इसके अलावा इस बैठक में सोनिया गांधी ने जीएसटी का मुद्दा भी उठाया। उन्होंने कहा कि राज्य सरकारों को जीएसटी का भुगतान समय पर किया जाना चाहिए।

सोनिया गांधी ने कहा कि जीएसटी का पैसा एक बड़ा मुद्दा है, और भुगतान न होने से राज्य सरकारों की आर्थिक स्थिति काफी प्रभावित हो रही है। इसके बाद ममता बनर्जी ने कहा कि लाखों की संख्या में छात्र है हमें छात्रों के साथ खड़ा होना चाहिए। अगर केंद्र कुछ नहीं कर रहा है तो हम लोग भी जनता के चुने हुए प्रतिनिधि हैं, हमें कोर्ट जाना चाहिए।