अन्नदाता के आगे झुकी महाराष्ट्र सरकार, मानी मांगें

0
kisan

गुरुवार को तक़रीबन 30 हजार किसान मुंबई के आजाद मैदान में आंदोलन के लिए जुटे थे. किसानों के आगे झुकते हुए देवेंद्र फडणवीस सरकार ने किसान और आदिवासियों की अधिकतर मांगे मान ली हैं. हालांकि कुछ मांगों पर अभी भी दोनों पक्षों में पूर्ण स‍हमति नहीं बन पाई है.

जिसके चलते सरकार की अोर से अाश्‍वासन दिया गया है कि कुछ मांगों पर 3 महीने के भीतर अमल किया जाएगा. महाराष्‍ट्र सरकार की ओर से सकारात्‍मक जवाब मिलने के बाद सभी आदिवासी अौर किसान नेता आजाद मैदान की अोर निकल पड़े.

इस आंदोलन में मैगसेसे पुरस्कार से सम्मानित और भारत के जल पुरुष के नाम से मशहूर डॉ. राजेन्द्र सिंह भी मार्च करने वालों में शामिल थे. किसानों की मुख्य मांगें थीं कि सूखे के लिए मुआवजा दिया जाए और आदिवासियों को वन्य अधिकार दिया जाए.