इंदौर। राज्यपाल मंगुभाई पटेल ने कहा कि उद्यमी देश की अर्थव्यवस्था की रीढ़ है। इसलिये देश, समाज के विकास में उनकी भूमिका व दायित्व बहुत महत्वपूर्ण है। उन्होंने उद्यमियों का आव्हान किया कि वे पिछड़े क्षेत्रों में उद्योग-व्यवसाय स्थापित करने पर विशेष ध्यान देवें, जिससे कि अधिक से अधिक जरूरतमंदों को स्थानीय स्तर पर ही रोजगार उपलब्ध हो सके। मध्यप्रदेश निवेश मित्र वातावरण, समृद्ध खनिज और कृषि संपदा वाला राज्य है। जहां निवेश की अपार संभावनाएं हैं।

राज्यपाल मंगुभाई पटेल आज यहां अपना परिवार ग्लोबल द्वारा आयोजित तीन दिवसीय ग्लोबल बिजनेस कॉन्क्लेव को संबोधित कर रहे थे। इस अवसर पर अपना परिवार के डॉ. राम कैलाश गुप्ता, श्यामसुंदर अग्रवाल, सुरेश खंडेलवाल, हरिमोहन दंगायच, विष्णु गोयल, शरण अग्रवाल तथा रमेश अग्रवाल आदि भी मौजूद थे।

राज्यपाल मंगुभाई पटेल ने कहा कि भारत की संस्कृति है कि समाज को एक परिवार माना जाए। समाज जनों से अपनत्व और आत्मीयता से व्यवहार करना भी हमारी परंपरा है, मध्यप्रदेश पर्यटन की दृष्टि से संपन्न राज्य है। प्राकृतिक सुंदरता से भरपूर है। मध्यप्रदेश में धार्मिक, ऐतिहासिक और सांस्कृतिक पर्यटन की अपार संभावनाएं हैं। युवाओं को इन क्षेत्रों में रोजगार मिले इसके लिए पर्यटन संबंधी पाठ्यक्रम भी शिक्षा में शामिल किया जा रहा है।

Also Read: CM Shivraj Singh वाल्मीकि जयंती पर वाल्मिकी धाम पहुंचे, आयोजित भण्डारे में किया भोजन ग्रहण

उन्होंने कहा कि लोकल फॉर वोकल को भी प्रोत्साहित करना चाहिए। इसको बढ़ावा देने के लिए सभी मिलकर प्रयास करें। उन्होंने उद्यमियों का आह्वान किया कि वे पिछड़े क्षेत्रों में उद्योग-व्यवसाय स्थापित करें, जिससे कि वहां के जरूरतमंद लोगों को रोजगार मिले। रोजगार के लिए पिछड़े क्षेत्र के लोगों को इधर-उधर भटकना नहीं पड़े। उन्होंने कहा कि व्यक्ति को अपनी बुद्धि, शक्ति तथा धन का उपयोग स्वयं के साथ दूसरों की भलाई के लिए भी करना चाहिए। पटेल ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में देश में तेजी से आर्थिक विकास हो रहा है।