कर्नाटक : कांग्रेस ने स्वीकार की हार, सिद्धारमैया ने सोनिया गांधी को सौंपा इस्तीफा

0

बेंगलुरू। कर्नाटक में 15 विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनाव में भाजपा ने शानदार प्रदर्शन करते हुए 12 सीटों पर जीत दर्ज की है। जबकि कांग्रेस को महज दो सीटों पर ही संतोष करना पड़ा है। जबकि जेडीएस किसी भी सीट पर खाता नहीं खोल पाई। वहीं निर्दलीय ने एक सीट पर कब्जा जमाया है।

इधर, राज्य में कांग्रेस के शर्मनाक प्रदर्शन के चलते प्रदेश अध्यक्ष दिनेश गुंडू राव और विपक्ष के नेता सिद्धारमैया ने हार की जिम्मेदारी लेते हुए अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। इससे पहले दोनों नेताओं ने केसी वेणुगोपाल से बात की।

सिद्धारमैया ने कहा कि कांग्रेस के विधायक दल के नेता के तौर पर मैं लोकतंत्र और जनादेश का सम्मान करता हूं। मैंने विधायक दल के नेता के पद से इस्तीफा दे दिया है और इसे सोनिया गांधी को सौप दिया है।

बता दे कि उपचुनाव में शानदार प्रदर्शन कर भाजपा ने बहुमत के आंकड़े को पार कर लिया है। अब भाजपा के पास विधासनभा में 117 सीटें हो गई हैं, जो कि बहुमत के आकड़े से 5 ज्यादा है। इस जीत पर मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने कहा कि मैं जीते हुए 12 प्रत्याशियों में 11 को कैबिनेट मंत्री बनाऊंगा।

कर्नाटक के भाजपा के शानदार प्रदर्शन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आज कर्नाटक के लोगों ने सुनिश्चित कर दिया है कि अब कांग्रेस और जेडीएस वहां के लोगों के साथ विश्वासघात नहीं कर पाएंगे। अब कर्नाटक में जोड़-तोड़ नहीं, वहां की जनता ने एक स्थिर और मजबूत सरकार को ताकत दे दी है।

गौरतलब है कि राज्य में पहले कांग्रेस-जेडीएस की सरकार थी, जो 14 माह चली थी, लेकिन जेडीएस के तीन और कांग्रेस के 14 विधायकों के इस्तीफे के कारण सरकार गिर गई थी। इसके बाद भाजपा की येदियुरप्पा सरकार बनी। सभी बागी विधायकों को पूर्व विधानसभा अध्यक्ष ने अयोग्य करार दे दिया। अब 15 सीटों पर उपचुनाव कराए गए हैं। दो सीटों के लिए हाईकोर्ट में मुकदमा चल रहा है।