भोपाल के बंसल अस्पताल में पत्रकार के साथ हुई मारपीट, मनमानी पर उतारू प्रबंधन

पत्रकार गोविंद गुर्जर ने वीडियो के जरिए अपने साथ हुई आपबीती बताई और कहा कि मेरे परिवार के 9 सदस्य अस्पताल में भर्ती है. एक्सीडेंट के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की ओर से सभी को एडमिट कराया गया मैं इसके लिए उनका शुक्रगुजार हूं.

भोपाल: पत्रकारिता को देश की अर्थव्यवस्था का चौथा स्तंभ कहा जाता है. कहते हैं कि पत्रकार देश का आईना होते हैं जो सही भविष्य और वर्तमान की दिशा दिखाते हैं. लेकिन क्या हो जब दुनिया तक सच पहुंचाने वाले के साथ ही दुर्व्यवहार किया जाए. हाल ही में एक मामला सामने आया है भोपाल से जहां एक पत्रकार गोविंद गुर्जर और उनके परिवार के साथ अस्पताल प्रबंधन द्वारा दुर्व्यवहार करने और मारपीट करने की बात सामने आई है.

बता दे कि पत्रकार गोविंद गुर्जर के परिवार का एक्सीडेंट हो गया था. जिसके बाद परिवार के सभी लोगों को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के ओएसडी की ओर से बंसल हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया. लेकिन वहां हुए किसी मामूली विवाद के बाद हॉस्पिटल के कर्मचारियों ने गोविंद गुर्जर के साथ जमकर मारपीट की.

Must Read- Indore: 5 मई को होगा तिरंगा अभियान, फहराया जाएगा 101 फिट का झंडा 

पत्रकार गोविंद गुर्जर ने वीडियो के जरिए अपने साथ हुई आपबीती बताई और कहा कि मेरे परिवार के 9 सदस्य अस्पताल में भर्ती है. एक्सीडेंट के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की ओर से सभी को एडमिट कराया गया मैं इसके लिए उनका शुक्रगुजार हूं. लेकिन अस्पताल प्रबंधन की ओर से ना ही मरीजों का इलाज किया जा रहा है ना ही कोई डॉक्टर उन्हें ढंग से देख रहा है. अस्पताल प्रबंधन की मनमानी इतनी है कि वह मारपीट पर उतारू हो गए हैं. वीडियो में गोविंद गुर्जर के चेहरे पर मारपीट के बाद निकला खून भी दिखाई दे रहा है. इसी के साथ ही वो रोते बिलखते हुए यह कह रहे हैं कि ऐसे अस्पताल में कोई भी मरीज अपना इलाज कराने ना आए.

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की ओर से ही पत्रकार के परिवार को इस अस्पताल में भर्ती करने की व्यवस्था की गई थी. लेकिन अस्पताल प्रबंधन का यह दुर्व्यवहार दुर्भाग्यपूर्ण नजर आ रहा है. पत्रकार गोविंद का वीडियो सामने आने के बाद मुख्यमंत्री इस पर क्या एक्शन लेते हैं यह देखने वाली बात होगी.