भारतीय महिला क्रिकेट टीम ने शनिवार को तीसरे और अंतिम एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में इंग्लैंड को 16 रन से हराकर तीन मैच की श्रृंखला में क्लीन स्वीप किया। लॉर्ड्स में अपना अंतिम वनडे मैच खेल रहीं झूलन भारत की ओर से नौवें नंबर पर बल्लेबाजी करने के लिए उतरीं। हालांकि, वह कुछ खास नहीं कर सकीं और अपने आखिरी मैच में गोल्डन डक का शिकार हुईं।

आपको बता दें झूलन गोस्वामी शनिवार को इंग्लैंड के खिलाफ तीसरे वनडे मैच में अंतरराष्ट्रीय करियर में आखिरी बार बल्लेबाजी के लिए लॉर्ड्स के मैदान पर उतरीं। जब वह मैदान पर बल्लेबाजी के लिए आईं तो इंग्लैंड के खिलाड़ियों और अंपायर ने झूलन को गार्ड ऑफ ऑनर दिया। इस दौरान इंग्लिश प्लेयर्स और अंपायरों ने झूलन के लिए तालियां बजाईं। यह देखकर झूलन भावुक भी हो गईं।

झूलन को इस समय पूरा विश्व क्रिकेट सलामी दे रहा है और उनके योगदान को सराहा रहा है। ऐसे में भारत की पुरुष टीम के खिलाड़ी भी पीछे नहीं रहे। विराट कोहली से लेकर हार्दिक पंड्या तक ने झूलन को सलाम किया है।

Also Read: 5G Service: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश में 1 अक्टूबर से करेंगे 5G सेवायें लांच, 5G सेवाओं का इंतजार जल्द होगा खत्म

झूलन गोस्वामी का करियर

चकदा एक्सप्रेस के नाम से मशहूर झूलन गोस्वामी दुनिया की सबसे तेज गेंदबाज और सबसे ज्यादा विकेट लेने वाली गेंदबाज हैं। 6 जनवरी 2002 को इंटरनेशनल डेब्यू करने वाली झूलन ने 19 साल के करियर में 284 मैचों में 355 विकेट चटकाए हैं। उनके नाम महिला विश्व कप में सबसे अधिक विकेट लेने का रिकॉर्ड हैं। उन्होंने 34 विश्व कप मैचों में 43 विकेट लिए हैं। वे विश्व कप में 2 बार 4 विकेट ले चुकी हैं। झूलन ने अपने इंटरनेशनल करियर में 1924 रन भी बनाए हैं। इसमें 3 फिफ्टी भी शामिल हैं।