प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 1 अक्टूबर को होने वाले एक कार्यक्रम में देश में 5G सेवाओं का शुभारंभ करेंगे। केंद्र सरकार के राष्ट्रीय ब्रॉडबैंड मिशन ने ट्वीट करते हुए ये जानकारी दी है. मिशन ने अपने ट्वीट में बताया कि प्रधानमंत्री मोदी 1 अक्टूबर को होने वाली एशिया की सबसे बड़ी टेक प्रदर्शनी ‘इंडिया मोबाइल कांग्रेस’ में भारत में 5G सेवाओं की शुरूआत करेंगे.

इंडिया मोबाइल कांग्रेस को एशिया में सबसे बड़ा टेलीकॉम, मीडिया और टेक्नोलॉजी फोरम माना जाता है. इसे संयुक्त तौर पर डिपार्टमेंट ऑफ टेलीकॉम्युनिकेशंस (DoT) और सेल्युलर ऑपरेटर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया (COAI) आयोजित करते हैं.

विशेषज्ञों की मानें तो 5G टेक्नोलॉजी आने से भारत को बड़ा फायदा होगा. मोबाइल नेटवर्क ऑपरेटर्स का प्रतिनिधित्व करने वाली वैश्विक औद्योगिक संस्था का अनुमान है कि साल 2023 और 2040 के बीच इससे भारतीय अर्थव्यवस्था को 36.4 ट्रिलियन रुपये या 455 अरब डॉलर का फायदा होने की उम्मीद है. मैक्युफैक्चरिंग, रिटेल और कृषि जैसे क्षेत्रों को 5G सेवाओं से सबसे अधिक फायदा होगा.

Also Read: एक राजनैतिक संत नरेन्द्र मोदी, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिवस पर उन्हें समर्पित लेख

बता दें कि 5G स्पेक्ट्रम की नीलामी में रिलायंस जियो ने सबसे अधिक स्पेक्ट्रम खरीदे थे। उसने सबसे ज्यादा 88,078 करोड़ रुपये खर्च करते हुए 24,740MHz स्पेक्ट्रम खरीदे हैं. जियो को अगले 20 साल के लिए इस पर हर साल 7,877 करोड़ रुपये खर्च करने होंगे और ब्याज भी देना होगा. वहीं एयरटेल ने 19,800MHz के 5G स्पेक्ट्रम खरीदे हैं और इसके लिए लगभग 43,084 करोड़ रुपये खर्च किए हैं। 5G की स्पीड 4G से 20-30 गुना अधिक तेज होगी.