आबिद कामदार

इंदौर: अभय प्रशाल में इंडिया इंटरनेशनल मेगा ट्रेड फेयर की एगजीबिशन लगी है, जिसमें देश विदेश के ड्राय फ्रूट, कालीन, सिल्क साड़ी, लकड़ी की नायाब कारीगरी, और अन्य नायाब चीज़े शामिल हैं। इन कलाकृतियों को खासियत यह है की यह आकर्षक होने के साथ साथ दुर्लभ है।

जोधपुर से वुडन आर्ट और सिल्क साड़ी

इंटरनेशनल मेगा ट्रेड में जोधपुर से सुंदर वॉल आर्ट लेकर आए है, लकड़ी और मेटल से बनी यह आर्ट काफी आकर्षक और सुंदर है जिसमे पीपल ट्री, नाइन डोल, पिकॉक, जेस्मिन शामिल है। वहीं जोधपुर की सिल्क और रेशमी साड़ी जोधपुर से लाई गई है।

अलीगढ़ की पीतल की मूर्तियां, बॉम्बे की 5डी तस्वीर और कश्मीरी हैंडलूम है शामिल एग्जीबिशन में

एग्जीबिशन में देश के कोने कोने से अपनी कलाकृति और अपने प्रदेश की नायाब चीज़े लेकर आए है। जिसमें अलीगढ़ से इंडियन हेंडीक्राफ्ट पीतल की मूर्तियां लाए है, पीतल की यह मूर्तियां आकर्षक होने के साथ साथ यह हैंडमेड है, छोटी और बड़ी मिलाकर यह लगभग 4 हजार मूर्तियां है। बॉम्बे से 5 डी जानवरो की फोटो भी शामिल है एग्जीबिशन में। वहीं काबुल अफगानिस्तान का ओनेक्स स्टोन से बने फ्लावर पॉट है, जो सभी नेचुरल कलर से बने है। इसी के साथ एग्जीबिशन में कश्मीरी हैंडलूम लाए है।

सर्दियों के इस मौसम में ईरान के खास और दुर्लभ खजूर

एग्जीबिशन में लाए गए है, जिसमे कीमिया ईरानी, काला इरानी खजूर, लेकर आए है वही ईरान से हमीद रजा ईरान का सुपर नगिन केसर लाए है, इसकी शुद्धता की निशानी यह है की यह पानी में पीसने तक रंग नही छोड़ता।

अफगानिस्तान के दुर्लभ जिलगोजा और शहतूत ड्राय फ्रूट एग्जीबिशन में

अफगानिस्तान के ऐसे कई ड्राय फ्रूट एग्जीबिशन में लाए गए है जो बहुत आसानी से मार्केट में नही मिलते जिसमें अफगानी ब्लू बेरी, चिलगोजा, अफगानी प्लम, मामडा, चिरिप्लाम,शूतुर्ग, जिलगोजा, पहाड़ी शीतुर्ग, शहतूत और अन्य ड्राय फ्रूट लाए है। यह विटामिन्स और इम्यूनिटी बढ़ाने में खास काम आते है