इंदौर: विश्व की सबसे ऊंची हनुमान प्रतिमा विराजित, आयोजित होगा विराट महोत्सव

0
81

इंदौर। पितृ पर्वत प्रकृति, पर्यावरण और आस्था के एक तीर्थ के रूप में उभर रहा है। भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय का पितरेश्वर हनुमान जी की विश्व की सबसे ऊंची अष्टधातु से निर्मित प्रतिमा का संकल्प पूर्ण हो गया हैं। पितरेश्वर हनुमान और विश्वेश्वर महादेव की प्रतिमा के प्राण प्रतिष्ठा समारोह की तैयारी के संबंध में 25 नवंबर, सोमवार को रवींद्र नाट्यगृह में विजयवर्गीय के सांनिंध्य में एक बैठक का आयोजन किया जा रहा है। ये जानकारी विधायक रमेश मेंदोला ने दी।

मेंदोला ने बताया कि विजयवर्गीय ने पितृ पर्वत पर अष्टधातु की विश्व की सबसे ऊंची हनुमान प्रतिमा की स्थापना का संकल्प लिया था। भगवान श्रीरामजी की कृपा तथा साधु-संतों और काकाजी-काकीजी के आशीर्वाद से उनका ये संकल्प पूर्ण हो गया है। पितृ पर्वत पर 272 फीट ऊंची और 272 फीट चैड़ी हनुमान जी की प्रतिमा विराजित हो गई है। ये अपने आप में दिव्य और अनुपम प्रतिमा है। इस दिव्य प्रतिमा तथा पितृ पर्वत पर विश्वेश्वर महादेव की प्रतिमा की प्राण प्रतिष्ठा के लिए फरवरी में आठ दिवसीय विराट महोत्सव आयोजित किया जाएगा।

इसकी तैयारी के लिए 25 नवंबर, सोमवार की शाम 06 बजे रवींद्र नाट्य ग्रह में एक बैठक का आयोजन किया जा रहा है। मेंदोला ने बताया कि विजयवर्गीय के सांनिंध्य में होने वाली इस बैठक में शहर के सभी धार्मिक और सामाजिक कार्यकर्ताओं तथा गणमान्यजन आमंत्रित है। बैठक में प्राण प्रतिष्ठा समारोह की रूपरेखा निर्धारित की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here