इंदौर(Indore) : कांग्रेस विधायक संजय शुक्ला ने यह जानना चाहा है कि क्या अब इंदौर शहर में सड़कों की मरम्मत और लोगों के घरों तक पानी पहुंचाने तथा नल में आ रहे गंदे पानी की समस्या का समाधान करने का काम स्वास्थ्य विभाग के द्वारा किया जाएगा ? शुक्ला ने यह सवाल महापौर पुष्यमित्र भार्गव से पूछा है । उन्होंने कहा कि सड़क, बिजली, पानी यह नगर के नागरिकों की मूलभूत आवश्यकता है । इसे पूर्ण करने का दायित्व इंदौर नगर निगम का होता है ।

इस समय सारे शहर में सड़कों की स्थिति बदहाल है । जहां पर सड़क के निर्माण का काम चल रहा है वहां काम पूरा नहीं हो पा रहा है । जहां पर सड़क की मरम्मत की जाना है वहां पर मरम्मत नहीं हो पा रही है । पेंच वर्क के नाम पर सड़क को और ज्यादा ऊंचा नीचा और बदहाल करने का काम किया जा रहा है । पानी की स्थिति तो और भी ज्यादा खराब है । अब अभी अमृत योजना के अंतर्गत निर्मित की गई टंकी से जल प्रदाय की लाइन नहीं डल पा रही है ।

लोगों के घरों में नलों में गंदा पानी आने का सिलसिला बदस्तूर जारी है । शहर की सड़कों पर बिजली की बचत के साथ अच्छे प्रकाश की व्यवस्था के लिए एलईडी लाइट लगाने की योजना कागज पर ही सिसक रही है । शुक्ला ने कहा कि ऐसी स्थिति में इंदौर नगर निगम एक तरफ जहां शहर के हर वार्ड में योग केंद्र खोलने की पहल कर रहा है तो दूसरी तरफ मोतियाबिंद के मरीजों का परीक्षण और ऑपरेशन कराने की पहल कर रहा है ।

उन्होंने कहा कि मैं योग केंद्र का या मोतियाबिंद के परीक्षण का विरोध नहीं कर रहा हूं । यह काम प्राथमिक रूप से स्वास्थ्य विभाग का है । इंदौर नगर निगम को भी शहर की जनता के हित में इस काम को करना चाहिए, लेकिन उस समय करना चाहिए जब आप अपना काम पूरा कर चुके हो ।

कब पूरा होगा एमजी रोड

शुक्ला ने कहा कि एमजी रोड पर बड़ा गणपति चौराहा से लेकर कृष्णपुरा तक के हिस्से के नव निर्माण का जो कार्य शुरू किया गया वह अब तक पूरा नहीं हो सका है । इस कार्य के लिए नगर निगम के द्वारा तय की गई सारी डेट लाइन चूक गए हैं । इस मार्ग पर घटिया निर्माण करने के मामले में किसी दोषी पर भी कार्रवाई नहीं हो सकी है । उन्होंने महापौर को सलाह दी कि पहले जरा निगम की जिम्मेदारियों का निर्वहन पूरा बराबर करवा ले उसके बाद बाकी के कामों को करें ।