एक्सीडेन्ट के बहाने धमका कर उनसे पैसे छीनने वाले गिरोह को इंदौर पुलिस ने किया गिरफ्तार

पुलिस आयुक्त नगरीय इंदौर हरिनारायणचारी मिश्र व्दारा इंदौर कमिश्नरेट में चोरी/नकबजनी, लूट एवं डकैती आदि संपत्ति संबंधी अपराधों की रोकथाम एवं इनमें संलिप्त आरोपियों पर प्रभावी कार्यवाही हेतु निर्देशित किया गया है।

इंदौर(Indore) : पुलिस आयुक्त नगरीय इंदौर हरिनारायणचारी मिश्र व्दारा इंदौर कमिश्नरेट में चोरी/नकबजनी, लूट एवं डकैती आदि संपत्ति संबंधी अपराधों की रोकथाम एवं इनमें संलिप्त आरोपियों पर प्रभावी कार्यवाही हेतु निर्देशित किया गया है। उक्त निर्देशों के अनुक्रम में अतिरिक्त पुलिस आयुक्त इंदौर मनीष कपूरिया एवं पुलिस उपायुक्त जोन 3 इंदौर धर्मेन्द्रसिंह भदौरिया द्वारा अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त जोन-4 राजेश रघुवंशी एवं सहायक पुलिस आयुक्त अरविन्द तोमर अनुभाग संयोगितागंज को अवैधानिक गतिविधियों पर अंकुश लगाने के लिए प्रभावी कार्रवाई हेतु कार्य योजना बनाकर कार्यवाही हेतु निर्देशित किया गया ।

पुलिस थाना संयोगितागंज को क्षेत्र के चिडियाघर नवलखा आदि चौराहों के आसपास वाहन सवारों को रोककर उनसे रूपये, कीमती सामान छीनने की सूचनाएं मिल रही थी। जिस पर वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा दी गई कार्ययोजना पर कार्यवाही करते हुये पुलिस थाना संयोगितागंज प्रभारी तहजीब काजी के मार्गदर्शन में टीम द्वारा क्षैत्र में लूट की घटनाओं को अंजाम देने वाले स्थानों के हॉट स्पॉट के आसपास पर तकनीकी आधारो, सादा वर्दी में पुलिस में सुनसान गलियों में छिपकर रैकी कर रही थी।

Read More : जम्मू-कश्मीर : जमात-ए-इस्लामी के ठिकानों पर एनआईए के छापे, टेरर फंडिंग का है आरोप

इसी दौरान पुलिस टीम को दिनांक 18-7-2022 की रात्रि 2 युवक एक मोटर साईकिल से एक वाहन चालक को रोककर इसी प्रकार की घटना को अंजाम देते हुए दिखे । पुलिस टीम द्वारा त्वरित घेराबन्दी कर दो युवकों को दोडते भागते पडा तो उन्होने अपना नाम शफीक पिता नर सैय्यद उम्र 39 साल निवासी काजी की चाल इन्दौर तथा शाहिल पिता अब्दुल रशीद उम्र 24 जी-1 काजी की चाल मालवा मिल बताया। पूछताछ पर उन्होने नशा करने के लिये वारदात करना स्वीकार किया । आरोपियों के कब्जे से घटना में प्रयुक्त मोटर साईकिल जो उन्होने छोटीग्वालटोली से चुराई थी और एक चाकू जब्त किया जाकर दोनों को गिरफ्तार किया गया ।

पुलिस टीम को फरियादी द्वारा बताया गया कि वह काम पर से अपनी पत्नी के साथ घर लौट रहा था तभी चिडियाघर के पास सन्मति स्कुल के सामने वाली गली की रोड पर उसकी गाडी दोनो आरोपियों ने रोकी और बोले कि तुम्हारी गाडी से पत्थर उचककर मेरे सर की बेटी को ऑख में लग गया है ।

Read More : देखें टीना डाबी का आईएएस सफर, इतनी कठिनाइयों के बाद बनी UPSC टॉपर

ईलाज के लिये रूपये दो वर्ना रिपोर्ट कर देगे मैने मना किया तो दोनो चाकू दिखा कर जेब से निकालने लगे तब मै जोर से चिल्लाया, तब ही पुलिस पैट्रोलिंग करती हुई दिखी तो वह शोर सुनकर वहॉ पहुंचे तो वह बदमाश पुलिस देखकर भागने लगे जिसे पुलिसवालों ने दौडकर पकड लिया । फरियादी की रिपोर्ट पर प्रकरण दर्ज कर आरोपियों को माननीय न्यायालय पेश किया गया जहॉ से उन्हें जेल भेज दिया गया है । आरोपियों को रंगे हाथ पकडने में थाना संयोगितागंज के उनि अक्षय कुशवाह, प्रआर संजय तिवारी, आर रामलखन शर्मा का योगदान रहा ।