Indore News : मृत गायों पर प्रशासन ने चलाया बुलडोजर, हकीकत हुई उजागर

इंदौर (Indore News) : ग्राम पेडमी में गौशाला में गायों की मौत के मामले में मौके पर पहुंचे कांग्रेसी नेताओं मैंने देखा कि मृत गाय की लाशों पर जिला प्रशासन के द्वारा बुलडोजर चलवा दिया गया गौशाला में गायों को रखने के लिए कोई व्यवस्था नहीं है करीब 2000 गाय खुले में बनी हुई हैं उनके इलाज की भी कोई व्यवस्था नहीं है।

ग्राम पेडमी में जीव दया गौशाला में 250 गायों की मौत होने के मामले में स्थिति देखने के लिए प्रदेश के पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा जीतू पटवारी विधायक संजय शुक्ला विधायक विशाल पटेल जिला कांग्रेस अध्यक्ष सदाशिव यादव वह कांग्रेस के अन्य नेता मौके पर पहुंचे। उन्होंने वहां जाकर देखा कि जिन गायों की मौत हुई थी उन गायों की लाशें खुले मैदान में पड़ी हुई थी। लेकिन आज शाम को जब पहुंचे तो मालूम पड़ा कि प्रशासन के द्वारा गाय की लाशों पर बुलडोजर चलवा दिया गया है। इन लाशों को जमीन में ही प्लेन करवा दिया गया है। इस स्थिति को देखकर कांग्रेस नेताओं के द्वारा अपना गुस्सा व्यक्त किया गया।

Must Read : Indore News : निगम को वित्तीय व आर्थिक क्षति पहुंचाने पर बिल कलेक्टर की सेवा समाप्त

विधायक संजय शुक्ला ने कहा है कि पेडमी की गौशाला में गायों की मौत राज्य सरकार की नाकामी की प्रतीक है। इस मामले में दोषी व्यक्तियों को बचाने की कोशिश चल रही है। इस गौशाला का संचालन करने वाली प्रबंध समिति के ट्रस्टीयों पर मुकदमा दर्ज किया जाना चाहिए।

विधायक शुक्ला ने जीव दया मंडल के द्वारा पेडमी में संचालित की जा रही गौशाला में गायों की मौत के मामले में सवाल उठाया है। उन्होंने कहा कि भोपाल में भाजपा से जुड़े लोगों के द्वारा संचालित की जा रही गोशाला में सैकड़ों गायों कि मौत होने के बाद पूरे प्रदेश में सरकार की ओर से सजगता दिखाने की कोशिश की गई थी । यह सजगता केवल दिखावे की थी। दरअसल भाजपा और उसके नेताओं को गाय की याद वोट के लिए आती है । उसके अलावा भी गायों पर कोई ध्यान नहीं देते हैं।

Must Read : Indore News : निलंबित ही रहेगा नगर निगम का आरोपी बेलदार मोहम्मद

यही कारण है कि प्रदेश की कई गौशालाओं में व्यवस्थाओं के अभाव के चलते हुए गायों की मौत हो रही है। इंदौर जिले के खुडैल क्षेत्र में आने वाले पेड़मी मैं हुई गायों की मौत का मामला भी इसी तरह का मामला है। इस मामले में पुलिस के द्वारा एक सामान्य मुकदमा दर्ज कर लिए जाने और गौशाला के मैनेजर को गिरफ्तार कर लिए जाने से कर्तव्य की पूर्ति नहीं हो जाती है।

शुक्ला ने कहा कि यह स्पष्ट है कि राज्य सरकार के द्वारा सही तरीके से मॉनिटरिंग नहीं किए जाने से पूरे प्रदेश में गौ माता की इलाज और भोजन के अभाव में तड़प तड़प कर मौत हो रही है। पैडमी की घटना के संदर्भ में भी यह आवश्यक है कि सरकार की ओर से इस गौशाला का संचालन करने वाले पदाधिकारियों और ट्रस्टियो पर गौ हत्या का मुकदमा दर्ज किया जाए।