Indore: इंदौर स्टेशन नवीनीकरण का काम जल्द होगा शुरू, सांसद लालवानी ने सोशल मीडिया पर मांगे सुझाव

इंदौर और लक्ष्मीबाई नगर में नए प्लेटफॉर्म बनाये जायेगे। साथ ही देवास दोहरीकरण का काम जल्द पूरा होगा एवं खंडवा के लिए सर्वे जल्द पूरा होगा।

इंदौर। रेल सुविधाओं को बेहतर करने के लिए सांसद शंकर लालवानी लगातार प्रयासरत रहते हैं। इसी कड़ी में गुरुवार को सांसद शंकर लालवानी ने रेलवे के वरिष्ठ अधिकारियों से एक मैराथन मीटिंग की, ट्रेन से लक्ष्मीबाई स्टेशन तक का दौरा किया और कई योजनाओं पर अधिकारियों से जवाब तलब किया।

सांसद शंकर लालवानी ने बताया कि जीएसआईटीएस तरफ वाले स्टेशन जिसे अभी पार्क रोड स्टेशन कहां जाता है, वहां पर नए प्लेटफार्म की संभावनाएं तलाशी जा रही है ताकि मेन स्टेशन से यात्रियों का दबाव कम किया जा सके। साथ ही पार्क रोड की साइड वाले इस स्टेशन का नाम बदलने की कवायद भी जारी है और इसके लिए सांसद शंकर लालवानी ने अपने सोशल मीडिया पर एक फॉर्म भी जारी किया है।

दरअसल, इंदौर रेलवे स्टेशन और पार्क रोड साइड स्टेशन में कई बार यात्रियों को गलतफहमी होती है और लोग पार्क रोड की जगह इंदौर स्टेशन के अंदर पहुंच जाते हैं जिसके लिए सांसद शंकर लालवानी ने यह कदम उठाया है। साथ ही, इंदौर देवास दोहरीकरण का काम भी आने वाले दो से तीन महीनों में पूरा होने की संभावना है। इससे यहां पर आने जाने में समय बचेगा। इसके अलावा इंदौर को खंडवा से जोड़ने के लिए अहम ब्रॉड गेज लाइन के सर्वे का काम भी शीघ्र पूरा होगा और जल्दी इस पर भी ठोस योजना बनाकर काम को आगे बढ़ाया जाएगा।

सांसद शंकर लालवानी ने ट्रेन के इंजन में बैठकर इंदौर रेलवे स्टेशन से लक्ष्मीबाई स्टेशन तक की यात्रा की और यहां पर तीसरी लाइन डालने की संभावनाओं को भी टटोला। साथ ही लक्ष्मीबाई नगर रेलवे स्टेशन के विकास के लिए एक बड़ी योजना पर अधिकारियों से काम करने के लिए कहा है। लक्ष्मी बाई नगर स्टेशन पर नए प्लेटफार्म भी बनाए जाएंगे।

Also Read: Indore: मुंबई एवं बैंगलोर के वित्तीय विशेषज्ञों द्वारा वित्तीय प्रबंधन विषय पर कार्यशाला का किया गया आयोजन

सांसद शंकर लालवानी ने बताया कि इंदौर भारत के सबसे तेजी से बढ़ते हुए शहरों में में से एक है इंदौर रेलवे स्टेशन पर भी यात्रियों का दबाव लगातार बढ़ता जा रहा है। ऐसे में इंदौर के आसपास के स्टेशनों का विकास करना अत्यंत आवश्यक है। भविष्य की जरूरतों को देखते हुए अन्य स्टेशन तैयार हो और इंदौर रेलवे स्टेशन जो कि शहर के मध्य में स्थित है वहां यात्रियों का दबाव ना बढ़े और ट्रैफिक की समस्याएं ना हो।