Indore: नई तकनीक से होगा गणेश प्रतिमा का सम्मान एवं विसर्जन, महापौर ने जवाहर टेकरी का किया निरीक्षण

इंदौर नगर निगम के महापौर व आयुक्त ने गणेश प्रतिमा विसर्जन हेतु जवाहर टेकरी का निरीक्षण किया। इस बार नई तकनीक से होगा गणेश प्रतिमा का सम्मान एवं विसर्जन किया जाएगा। निगम वर्कशॉप में बनी हायड्रोलिक प्लेटफार्म में प्रतिमाये रखकर विजर्सन किया जायेगा।

इंदौर। महापौर पुष्यमित्र भार्गव तथा आयुक्त प्रतिभा पाल द्वारा धार रोड जवाहर टेकरी स्थित गिटटी खदान में गणेश प्रतिमा विसर्जन स्थल का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान जनकार्य प्रभारी राजेन्द्र राठौर, सामान्य प्रशासन प्रभारी नंदकिशेर पहाडिया, अपर आयुक्त अभय राजनगांवकर, अधीक्षण यंत्रीअशोक राठौर, लक्ष्मीकांत वाजपेयी, वर्कशॉप प्रभारी मनीष पांडे व अन्य विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।

महापौर, आयुक्त, जनकार्य प्रभारी, सामान्य प्रशासन प्रभारी द्वारा शहर के विभिन्न स्थानो से निगम द्वारा एकत्रित गणेश प्रतिमाओं का धार रोड जवाहर टेकरी गिटटी खदान में वर्षाकाल के दौरान एकत्रित वर्षाजल में विधि-विधान से विसर्जन किया जाने के संबंध में निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान महापौर व आयुक्त द्वारा शहर से एकत्रित प्रतिमा का विधि विधान से पुजन-अर्चन कर एकत्रित वर्षाजल में विसर्जन करने के संबध में विभागीय अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिये गये।

Also Read: BJP की महिला नेता ने गर्म तवे से की दिव्यांग नौकरानी की पिटाई, आलाकमान ने पार्टी से किया सस्पेंड

महापौर व आयुक्त ने कहा कि गणेश प्रतिमा का जिस प्रकार से सम्मान एकत्रितकरण किया जाता है उसी प्रकार से सम्मान विजर्सन किया जावे, इसके लिये वर्कशॉप प्रभारी मनीष पांडे के निर्देशन में निगम वर्कशॉप के इंजीनियरो व कर्मचारियों के माध्यम से एक हायड्रोलिक प्लेटफार्म का निर्माण किया गया।

वर्कशॉप प्रभारी पांडे ने बताया कि वर्कशॉप में नई तकनीक से हायड्रोलिक प्लेटफार्म का निर्माण किया गया है, उक्त प्लेटफार्म में सर्वप्रथम एकत्रित गणेश प्रतिमा को रखा जायेगा, उसके पश्चात हायड्रोलिक प्लेटफार्म को मशीन के माध्यम से एकत्रित वर्षाजल में उतारा जायेगा, जब हायड्रोलिक प्लेटफार्म जल के सतह पर अंदर की ओर जायेगा तो उक्त हायड्रोलिक प्लेटफार्म का निचला हिस्सा कन्ट्रोल सिस्टम सेे खुल जायेगा और उक्त हायड्रोलिक प्लेटफार्म में रखी गणेश प्रतिमाऐं तालाब की सतह में पानी में गणेश प्रतिमा विसर्जित हो जायेगी। उक्त विजर्सन में किसी भी प्रकार से गणेश प्रतिमाओ को हाथो से विजर्सन ना करते हुए, हायड्रोलिक प्लेटफार्म की नई तकनीक से विसर्जन किया जायेगा।