देश

जमातियों ने मानी अपनी गलती, जुर्माने पर कोर्ट ने दी रिहाई

नई दिल्ली। कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलाने के आरोप में गिरफ्तार किए गए तबलीगी जमातियों को अब दिल्ली की कोर्ट से रिहाई मिल गई है। जमातियों पर दिल्ली कोर्ट ने 7 से 10 हजार तक का जुर्माना लगाया है। दरअसल इन लोगों ने कोर्ट के सामने अपनी गलती स्वकार की है। इन्होंने माना है कि वीजा और लॉकडाउन के उल्लंघन किया है। जिसके लिए इन सभी पर 7-10 हजार रुपये का जुर्माना लगाया गया है। कोर्ट में मलेशिया के 121 और सऊदी अरब के 11 नागरिकों ने अपनी गलती मानी। बता दें कि मार्च के महीने में कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए देश भर में लॉकडाउन लागू किया गया था। इसी दौरान दिल्ली के निजामुद्दीन इलाके में तबलीगी जमात के लोगों ने एक मरकज का आयोजन किया था। ऐसे में लॉकडाउन के चलते सैकड़ों लोग एक ही बिल्डिंग के अंदर फंस गए थे। इसमें कई विदेशी नागरिक भी थे। इस दौरान तबलीगी जमातियों ने देश के कई हिस्सों में लाॅकडाउन का उल्लंघन करते हुए धर्म प्रचार के लिए सभाएं की। जिसके कारण तबलीगी जमात पर कोरोना फैलाने का आरोप लगाए गए। बता दें कि 956 विदेशी नागरिक इस दौरान गिरफ्तार किए गए थे।