मध्य प्रदेश

इंदौर: 19 निगम झोनों में कल से शुरू होंगे फीवर क्लीनिक

इंदौर। मुख्यमंत्री कोरोना को सामान्य सर्दी-जुकाम बता चुके हैं, जिसका आसानी से इलाज भी संभव है। अब इंदौर सहित प्रदेशभर में सरकारी और निजी फीवर क्लीनिक शुरू करवाए जा रहे हैं। कल से 19 निगम झोनों पर भी ये फीवर क्लीनिक स्वास्थ्य विभाग शुरू कर देगा। इसके साथ ही इंदौर में डॉक्टरों से लेकर नर्स, पैरामेडिकल स्टाफ की भर्ती भी की जा रही है, ताकि संक्रमण बढ़ने की स्थिति में अधिक से अधिक लोगों का इलाज किया जा सके।

प्रमुख सचिव स्वास्थ्य मोहम्मद सुलेमान ने एक जानकारी में बताया कि शासन ने निर्णय लिया है कि हर मोहल्ले, वार्ड और क्षेत्रों में ये क्लीनिक खोले जाएंगे। सरकारी के साथ-साथ क्लीनिकों को भी मंजूरी दी जाएगी। फीवर क्लीनिक पर कोई भी व्यक्ति जिसे सर्दी-जुकाम, फ्लू के लक्षण लगते हैं वह अपना स्वास्थ्य परीक्षण कर सकेगा और फिर चिकित्सक को लगता है तो वह लक्षणों के आधार पर मरीज को कोविड केयर सेंटर में भेजा जाएगा, जहां आवश्यकता होने पर उसका कोरोना टेस्ट के लिए सेम्पल भी लिया जा सकेगा।

इंदौर के सीएमएचओ डॉ. प्रवीण जडिया ने बताया कि अभी निगम के 19 झोनों पर ये फीवर क्लीनिक कल से शुरू कर दिए जाएंगे, जहां पर चिकित्सक और पैरामेडिकल स्टाफ मौजूद रहेगा। वहीं कलेक्टर मनीष सिंह ने बताया कि इंदौर में मेडिकल का अमला बढ़ाया जा रहा है, जिसके लिए 867 मेडिकल ऑफिसर, 851 आयुष एमओ, 143 स्टाफ नर्स, 432 पैरामेडिकल फार्मासिस्ट और लैब टेक्नीशियन, 200 एएनएम, 350 वार्ड बॉय, 932 सिक्युरिटी, 888 सफाई स्टाफ के लिए आवेदन बुलवाए गए हैं। कलेक्टर द्वारा निर्धारित दर पर इन्हें मासिक मानदेय दिया जाएगा। यह नया मेडिकल अमला निजी क्षेत्र के जरिए जुटाया जा रहा है।