देश

इंदौर में एक से 15 जुलाई तक चलेगा ‘किल कोरोना कैंपेन’

इंदौर- मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के निर्देशानुसार संपूर्ण राज्य में 1 जुलाई से 15 जुलाई 2020 तक किल कोरोना कैंपेन चलाया जाएगा। इस संबंध में कलेक्टर मनीष सिंह की अध्यक्षता में आज कलेक्टर कार्यालय में बैठक आयोजित की गई। बैठक में नगर निगम आयुक्त प्रतिभा पॉल, जिला पंचायत सीईओ रोहन सक्सेना, इंदौर विकास प्राधिकरण के सीईओ  विवेक क्षोत्रिय, समस्त एडीएम, समस्त एसडीएम, सीएमएचओ, तहसीलदार, सीएमओ, सीईओ जनपद पंचायत, बीएमओ आदि अधिकारीगण उपस्थित थे।

कलेक्टर मनीष सिंह ने बताया कि यह अभियान दो श्रेणियों में चलाया जाएगा। पहला कोविड-19 तथा दूसरा मलेरिया एवं डेंगू के संदिग्ध व्यक्तियों की पहचान एवं उपचार से संबंधित होगा। सर्वेक्षण हेतु शहरी तथा ग्रामीण क्षेत्र हेतु अलग-अलग टीमें तैयार की गई है। शहरी एवं ग्रामीण दोनों ही क्षेत्रों में कोरोना सर्वेक्षण तथा मलेरिया एवं डेंगू से संबंधित सर्वेक्षण कार्य किया जाएगा।

शहरी क्षेत्र में डेंगू मलेरिया से संबंधित सर्वेक्षण कार्य हेतु एक हजार 750 पायलट टीम कार्य करेंगी। प्रत्येक 8 टीमों पर एक सुपरवाइजर टीम रहेगी, जिसमें एएनएम, मल्टी परपस वर्कर, सुपरवाइजर तथा नर्सिंग स्टूडेंट में से 2 सदस्य रहेंगे। मलेरिया से संबंधित लक्षण दिखने पर रैपिड डायग्नोस्टिक किट के द्वारा मौके पर ही मेडिकेशन दिया जाएगा तथा डेंगू से संक्रमित संदिग्ध व्यक्ति को रैपिड रिस्पांस टीम के माध्यम से फीवर क्लीनिक में रेफर किया जाएगा। यहां आवश्यकतानुसार चिकित्सकीय परामर्श के पश्चात पीसी सेठी अथवा एमवाय अस्पताल भेजा जाएगा।

कोरोना सर्वेक्षण के कार्य में लगी सर्वे एवं सुपरवाइजर की टीम द्वारा इंदौर कोविड-19 एप तथा सार्थक एप का उपयोग किया जाएगा। सार्थक ऐप में कोविड-19 चिन्हित प्रकरणों को दर्ज किया जाएगा। जिनकी फीवर क्लीनिक के माध्यम से सेम्पलिंग के पश्चात आवश्यकता अनुसार अस्पताल रेफर किया जाएगा। बताया गया कि आई एल आई अर्थात इनफ्लुएंजा लाइक इलनेस तथा एस ए आर आई अर्थात सीवियर एक्यूट रेस्पिरेट्री इनफेक्शन वाले प्रकरणों की एंट्री की जाएगी।

डेली सर्वे समरी से होगी राज्य स्तरीय निगरानी

जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी रोहन सक्सेना ने बताया कि प्रतिदिन किए जाने वाले सर्वेक्षण कार्य की एक समरी बनाएगी जिसे पोर्टल पर दर्ज किया जाएगा। समरी अथवा संक्षिप्त विवरण के आधार पर राज्य स्तर से प्रत्येक जिले पर निगरानी रखी जाएगी।

शत-प्रतिशत घरों का होगा सर्वेक्षण

कलेक्टर मनीष सिंह ने बताया कि 1 से 15 जुलाई 2020 तक चलने वाले सर्वेक्षण कार्य में संपूर्ण जिले के प्रत्येक घर का सर्वेक्षण किया जाएगा। इस हेतु सभी अपर कलेक्टर, अनुविभागीय अधिकारी एवं चिकित्सकीय अमले को समस्त मैदानी व्यवस्थाओं को दुरुस्त करने के निर्देश दिए गए हैं। उन्होंने निर्देश दिए है कि इस अभियान के दौरान किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। किल कोरोना कैंपेन ‍से जिले में कोरोना संक्रमण की रोकथाम हेतु पहले से किए जा रहे प्रयासों को और बल मिलेगा