अमेरिका भारत को सौेंपेगा ‘एमके 45’ तोप, दहाड़ सुन कांपेगा दुश्मन

हाल ही में नौसेना के बेड़े में एक तोप शामिल होने जा रही है जिसकी दहाड़ से ही दुश्मन दहल जाएगा। जब ये तोप चलती है तो लगता है कि तबाही दहाड़ रही है।

0
86
MK 45

नई दिल्ली: भारतीय नौसेना की ताकत में और इजाफा होने वाला है। नौसेना की बढ़ती ताकत ही दुश्मन की हालत खस्ता करने के लिए काफी है। हाल ही में नौसेना के बेड़े में एक तोप शामिल होने जा रही है जिसकी दहाड़ से ही दुश्मन दहल जाएगा। जब ये तोप चलती है तो लगता है कि तबाही दहाड़ रही है।

दरअसल, ट्रंप प्रशासन ने 71 हजार करोड़ रुपए की एमके 45 नौसैनिक तोपें भारत को बेचने के फैसले को मंजूरी दे दी है। अमेरिका ऐसी करीब 13 तोपें भारत को देगा। इसके साथ इनके उपकरण भी भारत आएंगे।

यहां होता है इस्तेमाल

एमके-45 तोपों का इस्तेमाल युद्धपोत, तटों और लड़ाकू विमानों पर बम बरसाने के लिए किया जाता है। यह तोप दुश्मन को अपने पैरों पर खड़ा होने का समय भी नहीं देती। इससे जमीन और हवा में दुश्मनों को मार गिराना बेहद आसान होगा।

अमेरिका की बीएई सिस्टम्स लैंड एंड आर्मामेंट्स इस तोप को बना रही है। इन तोपों से भारत को आसपास के देशों से आने वाले खतरे और आतंकी गतिविधियों को खत्म करने में आसानी होगी। अभी तक अमेरिका ने इन तोपों को ऑस्ट्रेलिया, जापान और दक्षिण कोरिया को ही बेचा है और थाईलैंड को भी उन्नत संस्करण दिया है। अमेरिका इन तोपों को ब्रिटेन और कनाडा को भी बेचने की तैयारी में है।

एमके-45 तोप 31.75 किलोग्राम गोला.5 इंच कैलीबर.16 से 20 राउंड प्रति मिनट दागने में सक्षम है। इस गोला 762 मीटर प्रति सेंकड से उड़ता है और .25 किलोमीटर की रेंज में तबाही मचा देता है। हालांकि सौदा तय होने के लिए कानूनी मंजूरी मिलना अभी बाकी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here