देश में पिछले कुछ दिनों से तापमान में गिरावट का दौर जारी है। इससे ठंडक बढ़ती जा रही है। वही कुछ राज्यों में भारी बारिश के साथ साथ हल्की बूंदाबांदी देखने को मिल रही है। मौसम विभाग की मानें तो अगले दो दिन के दौरान उत्तर पश्चिम भारत में न्यूनतम तापमान में 2-4 डिग्री सेल्सियस की गिरावट आएगी।

दिल्ली में मौसम का हाल 

मौसम विभाग की मानें तो दिल्ली में आज, 15 नवंबर को न्यूनतम तापमान 8 डिग्री और अधिकतम तापमान 25 डिग्री दर्ज किया जा सकता है. वहीं, दिल्ली में आसमान साफ रहने की संभावना है। अगर प्रदूषण की बात करें तो कल शाम 6 बजे के करीब दिल्ली के आनंद विहार स्टेशन पर AQI 193 दर्ज किया गया। दिल्ली में प्रदूषण के स्तर में सुधार हुआ है।

सुबह के समय कोहरा 

मौसम विभाग की मानें तो उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में न्यूनतम तापमान 10 डिग्री और अधिकतम तापमान 26 डिग्री दर्ज किया जा सकता है। वहीं, लखनऊ में सुबह के वक्त कोहरा रहेगा। इसके बाद दिन के वक्त आसमान साफ रहेगा। गाजियाबाद में न्यूनतम तापमान 8 डिग्री और अधिकतम तापमान 24 डिग्री दर्ज किया जाएगा।

गुजरात में मौसम विभाग ने दी सलाह

गुजरात के कुछ हिस्सों में बेमौसम बारिश की संभावना है, क्योंकि पूर्व मध्य और इससे सटे दक्षिण पूर्व अरब सागर के ऊपर कम दबाव का क्षेत्र विकसित हो गया है। इसकी जानकारी मौसम विज्ञान विभाग ने दी है। विभाग के अनुसार, कम दबाव के चलते वहां आस पास के कुछ क्षेत्रों में ऐसी स्थिति पैदा हुई है। इसके चलते कोमोरिन क्षेत्र में हवा की गति 35 से 45 किमी प्रति घंटे तक बढ़ जाएगी। इस सब स्थिति के चलते मछुआरों को अगले कुछ दिनों तक समुद्र में न जाने की सलाह दी गई है। अमरोली, राजकोट और साउथ गुजरात के कुछ किसानों को चेतावनी दी गई है।

इन इलाकों में होगी बारिश 

मौसम विभाग के मुताबिक, दो दिनों तक बेमौसम बारिश होगी। मौसम विभाग के अनुसार सौराष्ट्र के अमरेली, जूनागढ़, राजकोट, उत्तर गुजरात के अरावली और दक्षिण गुजरात के सूरत, वलसाड, तापी और डांग जिलों में बारिश होगी। किसानों को बारिश के दौरान अपनी फसलों की देखभाल करने की हिदायत दी गई है। हालांकि 2 दिन बाद वातावरण शुष्क रहेगा। 20 दिसंबर के बाद कड़ाके की ठंड पड़ने की संभावना है। बेमौसम बारिश का असर जाफराबाद पीपावाव समुद्री तट पर देखा जा सकता है।

किसानों की बड़ी मुश्किलें 

वलसाड जिले में लगातार तीसरे दिन बेमौसम बारिश हुई। गुजरात के कई इलाकों में सुबह से ही बादल छाए रहे। कृषि फसलों के खराब होने की आशंका से किसान भी काफी चिंतित हैं। डांग के हिल स्टेशन सापूतारा सहित तलहटी में मूसलाधार बारिश हुई। मौसम विभाग के पूर्वानुमान के अनुसार डांग जिले में 3 दिनों तक मानसून का असर देखने को मिल सकता है। सब्जियां, प्याज, गेहूं और स्ट्रॉबेरी जैसी फसलें उगाने वाले किसानों को नुकसान का डर सता रहा है।