moreअन्य

इंदौर कैंसर फाउंडेशन को नि:शुल्क कंसल्टेंसी देगा आईआईएम इंदौर

आईआईएम इंदौर शारीरिक, मानसिक और भावनात्मक रूप से सभी की भलाई में विश्वास करता है । इस उद्देश्य के साथ, आईआईएम इंदौर ने अपनी संस्थागत जिम्मेदारी (Institutional Social Responsibility) के तहत इंदौर कैंसर फाउंडेशन (ICF) को नि:शुल्क कंसल्टेंसी प्रदान करने का निर्णय लिया है । संस्थान में ज़ेन गार्डन और औषधीय जड़ी-बूटियों के पौधारोपण के स्थान के उद्घाटन के अवसर पर और आईआईएम इंदौर ने आशय पत्र 26 नवंबर, 2020 को ICF को सौंप दिया । इस अवसर पर प्रोफेसर हिमाँशु राय, निदेशक, आईआईएम इंदौर और डॉ. दिगपाल धारकर, संस्थापक, ICF उपस्थित थे । संस्थान तीन मुख्य तरीकों से ICF के लिए योगदान करेगा: कैंसर के उपचार के दुष्प्रभावों को कम करने के लिए आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियाँ प्रदान की जाएँगी, फंडिंग के लिए रणनीतिक परामर्श प्रदान किया जाएगा और कैंसर रोगियों के लिए विभिन्न प्रकार की रुचिकर और आकर्षक गतिविधियाँ आयोजित की जाएँगी ।

प्रोफेसर राय ने कहा कि संस्थान रेडियोथेरेपी और कीमोथेरेपी के दुष्प्रभावों का प्रबंधन करने के लिए उपचारात्मक देखभाल करने हेतु परिसर में उगाई जाने वाली जड़ी-बूटियों की नि: शुल्क आईसीएफ को देगा । उन्होंने बताया कि संस्थान के संकाय सदस्य आईसीएफ को विपणन, संचालन, फंड जुटाने और आउटरीच के क्षेत्र में योगदान देंगे । यह कदम शहर के संभावित डोनर तक पहुंचने और धन जुटाने में मदद करेगा; और इंदौर स्थित फर्मों का एक डेटाबेस तैयार करेगा, जिनसे कॉर्पोरेट सामाजिक जिम्मेदारी (Corporate Social Responsibility) संबंधित गतिविधियों के लिए संपर्क किया जा सकेगा ।

संस्थान कैंसर पीड़ितों के लिए योग कक्षाएं, स्टोरी-टेलिंग सेशन, बुक रीडिंग सेशन और आर्ट क्लास जैसी विभिन्न उत्पादक और रचनात्मक कार्यक्रम भी आयोजित करेगा । कैंसर पीड़ित और उनकी देखभाल करने वाले सदस्य आईआईएम इंदौर डॉग शेल्टर के श्वानों के साथ समय बिता सकते हैं और उनके साथ खेल कर चिकित्सीय लाभों का आनंद उठा सकते हैं। डॉ. धरकर ने आईआईएम इंदौर द्वारा प्रदान की गई सहायता और समर्थन की सराहना की । ‘आईसीएफ आईआईएम इंदौर के साथ जुड़कर प्रसन्न है और हम विश्वास दिलाते हैं कि हम हमेशा हर ज़रूरतमंद व्यक्ति की सहायता के लिए उत्सुक रहेंगे – चाहे वह किसी भी क्षेत्र से हो । हम लोगों की जीवनशैली सुधरने और समाज में योगदान देने पर भी काम करेंगे, उन्होंने कहा ।

ज़ेन गार्डन के बारे में:  पांच महीने में तैयार हुआ ज़ेन गार्डन 70 * 70 वर्ग फीट के क्षेत्र में फैला है । जापानी ज़ेन गार्डन से प्रेरित, यह उद्यान चार प्रमुख घटकों – रेत, पौधों, पत्थरों और खाली जगहों के साथ एक घुमावदार परिदृश्य में शैलीबद्ध है । ये सभी घटक हमारे जीवन में विभिन्न चरणों और भावनाओं का प्रतिनिधित्व करते हैं । बगीचे में एक बेलनाकार ‘प्रेयर व्हील’ भी है, जो घुमाने पर उसी तरह का भाव का अहसास कराता जैसे कि प्रार्थना को मौखिक रूप से बोलना, जो आत्मा को शांति प्रदान करता है । यह उद्यान आत्मनिरीक्षण, विचार, और ध्यान को बढ़ावा देने के लिए संस्थान द्वारा बनाया गया एक स्थान है, जिससे तनाव से राहत और बेहतर मानसिक स्वास्थ्य प्राप्त होता है ।

Related posts
moreदेश

पश्चिम बंगाल आएंगे PM मोदी, करेंगे सुभाष मेमोरियल संग्रहालय का उद्घाटन

23 जनवरी को देश में सुभाष चंद्र बोस क…
Read more
moretrendingदेश

द ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क और तीर्थन अभ्यारण्य को मिला सर्वश्रेष्ठ संरक्षित क्षेत्र के रूप में स्थान

शिमला: हिमाचल प्रदेश वैसे है पहाड़…
Read more
breaking newsmoreगैजेट्सदेश

BEML ने बनायीं देश की पहली बिना ड्राइवर से चलने वाली ट्रैन, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने किया उद्घाटन

बेंगलुरू: अन्य देशो की तरह भारत देश भ…
Read more
Whatsapp
Join Ghamasan

Whatsapp Group