‘‘प्लास्टिक मुक्त भारत’’ के संकल्प को लेकर निकली ऐतिहासिक ‘‘विशाल-चुनरी यात्रा’’

0
47
chunari yatra

इन्दौर: तेज बारिश भी आस्था व उत्साह के सैलाब को न रोक सकी, तेज बसरते पानी में भी हजारो की संख्या में माताओं, बहनो व युवाओं का सैलाब जब विषाल चुनरी लेकर मॉ बिजासन के मंदिर पहुॅचा, तो आस्था के महासागर का दृश्य उपस्थित हो गया। नवरात्रि के पावन पर्व पर आज बड़ा गणपति मन्दिर से बिसाजन माता मंदिर तक हजारों श्रध्दालुओं ने ‘‘प्लास्टिक मुक्त भारत’’ के संकल्प को लेकर केन्द्रीय मंत्री थावरचंद गेहलोत, पूर्व लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन, सांसद शंकर लालवानी, सांसद महेन्द्रसिंह सोलंकी, भाजपा नगर अध्यक्ष गोपीकृष्ण नेमा, यात्रा संयोजक व भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष सुदर्शन गुप्ता की उपस्थिति में विशाल चुनरी यात्रा निकली गई। 2 कि.मी. से अधिक लम्बी लाखों सितारों से सजी चुनरी बिजासन माता को चढ़ाई।

परम्परागत तरीके से नवरात्रि के महाअष्टमी पावन पर्व पर आज पूर्व लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा जी महाजन व केन्द्रीय मंत्री थावरचंद गेहलोत सांसद शंकर लालवानी, सांसद महेन्द्रसिंह सोलंकी, नगर अध्यक्ष गोपीकृष्ण नेमा, यात्रा संयोजक सुदर्गुशन गुप्ता ने बड़ा गणपति मंदिर में विधिवत ‘‘पूजा अर्चना’’ कर विशाल चुनरी यात्रा की शुरूआत की।

चुनरी रक्षको ने संभाली यातायात व्यवस्था

गुप्ता ने बताया कि यात्रा बडा गणपति मंदिर से प्रारंभ होकर पीलिया खाल, अग्रसेन नगर चौराहा, रामचन्द्र नगर चौराहा, षिक्षक नगर चौराहा, कालानी नगर चौराहा, विद्याधाम मंदिर होते हुए एयरपोर्ट थाने के सामने बने विषाल मंच के समक्ष पहुंची। यातायात बाधिंत न हो इस हेतु दो हजार चुनरी रक्षको ने यातायात व्यवस्था संभाली, यात्रा मार्ग के प्रत्येक चौराहे पर चुनरी रक्षक चल रहे थे। जिन्होने वॉकी – टॉकी के माध्यम से यातायात को सुगम बनाने का कार्य किया।

विभिन्न संगठनो ने ‘’चुनरी यात्रा का स्वागत मंचो से स्वागत किया

चुनरी यात्रा का विभिन्न संगठनो ने मंच लगाकर स्वागत किया। सामाजिक – शैक्षणिक – आर्थिक – खेल – व्यापारी संस्थाओं, रहवासी संघो, गरबा मंडलो ने मंच से पुष्प वर्षा कर यात्रा का स्वागत किया। रामचन्द्र नगर, नृसिंग वाटिका के पास बने मंच को चुनरी यात्रा का प्रचार करती हुई कपडे की थैलियों से सजाया गया था और प्लास्टिक मुक्त भारत का आव्हान किया जा रहा था। यात्रा में खिचडी प्रसाद, छाछ, फल और जल की स्वागत मंचो पर व्यवस्था की गई थी। चुनरी यात्रा की टीम ने मंचो से सिंगल यूज प्लास्टिक का उपयोग न करने की अपील की थी जिसका असर मंचो पर दिखाई दिया।

विषाल चुनरी यात्रा मंच पर उपस्थित रहे साधु – संतगण

चुनरी यात्रा मंच पर पंचकुईया राम मंदिर के संत श्री लक्ष्मणदास महाराज, महंत योगेन्द्र मंहत, महात्यागी संत राधे-राधे बाबा, संत फरियाली बाबा, महामण्डलेष्वर संत गोपाल दास महाराज, अखण्ड धाम आश्रम-महामण्डलेश्वर चेतन स्वरूप महाराज, हसंदास मठ के संत पवन शास्त्री जी महाराज सहित अनेक साधु-संत उपस्थित हो कर श्रद्धालुओं को आशीर्वाद दिया।

गुप्ता ने स्वागत भाषण देते हुए कहा कि आज से 10 वर्ष पूर्व छेटी – छोटी यात्राऐ निकलती थी, और आम जनता माताएं बहने अलग – अलग जाकर बिजासन माता को चुनरी चढाती थी। हमने अपने कार्यकर्ताओं के साथ इस विषाल चुनरी यात्रा को निकालने का निष्चय किया। 2 कि.मी. से बडी चुनरी हमारे इन्दौर में ही चढाई जाती है। देष में हमारी इस यात्रा ने अपनी पहचान बनाई है। हम हर वर्ष विषाल चुनरी यात्रा में एक संकल्प लेते है। जब पहली बार यात्रा निकाली तो धारा 370 हटाने का संकल्प लिया था, आज मोदी जी के नेतृत्व वाली सरकार ने इस संकल्प को पूरा किया। इस बार हमें सिंगल यूज प्लास्टिक मुक्त भारत बनाने का संकल्प लेकर प्रकृति को सुंदर व स्वच्छ बनाना है।

एयरपोर्ट के सामने बने विषाल मंच से यात्रा में शमिल प्रमुख नेतागण ने संकल्प दिलाया –

तेज बारिष को देखते हुए यात्रा संयोजक श्री गुप्ता ने केन्द्रीय मंत्री श्री थावरचंद गेहलोत व पूर्व लोकसभा अध्यक्ष श्रीमती सुमित्रा महाजन को सीधे संकल्प देने के लिये आमंत्रित किया। चुनरी यात्रा में सम्मिलित श्रध्दालुओं को केन्द्रीय सामाजिक न्याय मंत्री श्री थावरचन्द जी गेहलोत, पूर्व लोकसभा अध्यक्ष श्रीमती सुमित्रा जी महाजन, सासंद श्री शंकर लालवानी, सांसद महेन्द्रसिंह सोलंकी, नगर अध्यक्ष गोपीकृष्ण नेमा, उमाशशि शर्मा, संभागीय मीडिया प्रभारी आलोक दुबे, मण्डल अध्यक्ष, विजय बिंजवा, रमाकांत गुप्ता सहित वरिष्ठ भाजपा नेतागणो ने क्षेत्र की जनता व श्रध्दालुओं को ‘‘प्लास्टिक मुक्त भारत’’ का संकल्प दिलाया।

दो लाख सितारों से जडी ‘‘विषाल चुनरी’’ मॉ बिजासन को चढाई

संकल्प पश्चात् यात्रा पुनः प्रारंभ हुई मॉ बिजासन के मंदिर पहुंच कर सूरत से बनकर आयी मुस्लिम कारीगरो द्वारा तैयार की गई दो लाख सलमा सितारो, चमक के साथ – साथ गोटे व मोती से संजी दो कि.मी. लम्बी चुनरी मॉ बिजासन के चरणो में अर्पित की गई।

यात्रा में स्वच्छता का विषेष ध्यान रखा

इन्दौर स्वच्छता सर्वेक्षण में लगातार तीसरी बार नम्बर वन बना है। इस गरीमा को ध्यान में रखते हुए हर बार की तरह इस बार भी यात्रा में स्वच्छता का विषेष ध्यान रखा गया, चुनरी यात्रा टीम के स्वच्छता प्रहरी नगर निगम सभापति अयजसिंह नरूका के नेतृत्व में यात्रा के पीछे – पीछे बडा गणपति मंदिर से बिजासन मंदिर तक यात्रा मार्ग की सफाई करते हुए चल रहे थे।

अष्विनी षुक्ल, संतोष गौर, मांगीलाल रेडवाल, अरूण बाकलीवाल, शुभम गुप्ता, साकार गुप्ता, भगवानसिंह चौहान, नीता षर्मा, मनोज मिश्रा, दीपक जैन टीनु, राजेष चौहान, चंगीराम यादव, गोपाल मालु, चन्दा सुरेन्द्र वाजपेयी, पार्वती अषोक कुषवाह, संदीप दुबे, धीरज ठाकुर, महेष चौधरी, प्रिंसपाल टोग्या, राहुल जायसवाल, छोटु मित्तल, संध्या यादव, रेखा जायसवाल, सुनीता गोरांग, सुनीता जयपाल, सुभाष परमार, जसमीत जैन, इन्द्रा गेहलोत, मंजु ठाकुर, अनिल तिवारी, आर.एन. मिश्रा, गणपत कसेरा,  नितिन तोमर, रितेष पाटनी, कुलदीप चौकसे, षंकर यादव, गोपाल गोयल, अमान मेमन, मुर्तजा कोटावाला, फकरू भाई, इकबाल भाई डब्बेवाले, राजकुमार यादव, नितिन कष्यप सहित बड़ी संख्या श्रध्दालु विषाल चुनरी यात्रा में षामिल हुए। 

झलकियां –

  • एक युवक सांई बाबा के वैषभूषा में यात्रा में शामिल हुआ, रथ पर बैठकर सांई बाबा की भाव भंगिमाओं को प्रदर्षित कर रहा था।
  • बडी संख्या में युवा गले में प्लास्टिक मुक्त भारत व सिंगल यूज प्लस्टिक की तख्तियॉ टांगे चल रहे थे।
  • संगीतमय, धार्मिक भजनों को बजाते हुए बैण्ड़ चल रहे थे।
  • हाथों में ओ३म् के ध्वज लिये श्रध्दालु सम्मिलित हुए।
  • घोडे पर सवार होकर महापुरूषों एवं शहिदों की वेषभुषा में बालक व बालिकायें चली।
  • सुबह से ही श्रध्दालु झांझ मंझीरे लेकर माता जी के जयकारे लगाते हुए बडा गणपति मन्दिर पहुंच रहे थे।
  • विषाल चुनरी यात्रा प्रारंभ करने के पूर्व अतिथियों ने बडा गणपति मन्दिर में पूजा अर्चना कर यात्रा प्रारंभ की।
  • अल्पसंख्यक समाज, सिक्ख समाज, बोहरा समाज, वाल्मिकी समाज, प्रजापत समाज, साहू समाज, पालीवाल समाज, कुषवाह समाज, यादव समाज, मराठी समाज, राजस्थानी गुर्जर समाज, बंजारा समाज, सेन समाज, खण्डेलवाल समाज, दधीची ब्राम्हण समाज, अग्रवाल समाज, दर्जी समाज, मेडतवाल समाज, सहित अनेक समाज के पदाधिकारी एवं नागरिक यात्रा में शामिल हो कर ‘‘प्लास्टिक मुक्त भारत’’ का संदेष दे रहे थें।
  • यात्रा मार्ग में पधारे श्रध्दालुआें का नागरिक घरों से पुष्प वर्षा कर स्वागत कर रहे थें।
  • सेकड़ों मंचो के माध्यम से यात्रा के श्रध्दालुओं का स्वागत किया गया।
  • लाखों सितारों से सजी ढ़ाई किलो मीटर लम्बी परंपरागत चुनरी माँ बिजासन को अर्पित की गई।
  • युवा झांज मंजीरें बजाते हुए भक्ति गीत गा रहें थे, कुछ युवाओं की टोली स्वयं सेवक के रूप में व्यवस्थाओं को संचालित करने मे जुटी हुई थी। सम्पूर्ण पश्चिमी क्षेत्र धर्म मय हो गया था। धर्म ध्वजा लिये माताएं बहनें भजन करते हुए चल रही थी, तो दूसरी ओर पुरूष भी टोलियों में चल रहे थें।
  • ‘‘चलो बुलावा आया है, बिजासन माता ने बुलाया है’’ जैसे भक्ति गीतां पर यात्रा में शामिल मातायें व बहनें झुम रही थी
  • कार्यक्रम का संचालन बडागणपति पर मण्डल अध्यक्ष श्री विजय बिंजवा व द्वारकाप्रसाद चौरसिया एवं एयरपोर्ट थाने के सामने बने मंच पर प्रो. डॉ. मंगल मिश्र द्वारा किया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here