सेन्ट्रल गवर्मेन्ट ने 1 करोड़ से ज्यादा केंद्रीय कर्मचारी और पेंशनर्स को त्योहारों पर एक बड़ा बोनस गिफ्ट देने का एलान किया था जिस पर अब कैबिनेट कमेटी ऑफ इकोनॉमिक अफेयर्स (CCEA) की बैठक आज हुई और उसी में डीए में बढ़ोतरी के फैसले पर मुहर लगा दी गई है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट की बैठक में महंगाई भत्ता बढ़ाने का फैसला लिया गया था. सरकार ने डीए में 4 फीसदी की बढ़ोतरी कर दी है और इसे 34 फीसदी से बढ़ाकर 38 फीसदी कर दिया है. ये बढ़ोतरी जुलाई से लेकर दिसंबर 2022 के लिए मान्य होगी. कर्मचारियों और पेंशनर्स को 38 फीसदी के हिसाब से महंगाई भत्ते और राहत का लाभ मिलेगा. ये बढ़ोतरी 7 वें केंद्रीय वेतन आयोग की सिफारिशों के तहत स्वीकृत फार्मूले पर आधारित है

केंद्रीय कर्मचारियों को कितना मिलेगा लाभ  

महंगाई भत्ते में 4 फीसदी की बढ़ोतरी की गई है. केंद्रीय कर्मचारियों का महंगाई भत्ता 38 फीसदी किया गया है. महंगाई भत्ते में बढ़ोतरी से केंद्रीय कर्मचारियों के वेतन में जबरदस्त इजाफा संभव है. आंकड़ों के मुताबिक केंद्र सरकार के इस फैसले का फायदा 47 लाख कर्मचारियों और 68 लाख पेंशनभोगियों को होगा.

Also Read – IIT Jodhpur Recruitment: आईआईटी ने निकाली 153 पदों पर भर्तीया, जानें आवेदन करने की तिथि और पात्रता, इतनी मिलेगी सेलरी

 

38 % हुआ महंगाई भत्ता

अभी केंद्रीय कर्मचारियों और पेंशनभोगियों को 34 प्रतिशत के हिसाब से महंगाई भत्ता दिया जा रहा है. लेकिन कमरतोड़ महंगाई के मद्देनजर सरकार इसे 4 प्रतिशत बढ़ाकर 38 प्रतिशत कर दिया है. केंद्रीय कर्मचारियों को अक्टूबर के वेतन के साथ में नए महंगाई भत्ते का पूरा पेमेंट किया जाएगा. अक्टूबर के महीने में कर्मचारियों को उनका पिछले 3 महीने का सारा एरियर भी दिया जाएगा.

कितना मिलेगा लाभ ?

किसी सरकारी कर्मचारी का बेसिक वेतन 56,000 रुपये है तो 38 फीसदी के दर से महंगाई भत्ता बढ़ने पर 21,280 रुपये महंगाई भत्ता मिलेगा. यानि हर महीने 2240 रुपये ज्यादा और पूरे वर्ष के हिसाब से फायदा जोड़ लें तो 21,280*12= 255360 रुपये मिलेंगे. इसका मतलब है कि सालाना आधार पर पहले के मुकाबले 26,880 रुपए ज्यादा महंगाई भत्ता मिलेगा.