आर्थिक मंदी के बीच मोदी सरकार के लिए खुशखबरी, औद्योगिक उत्पादन दर में हुई वृद्धि

देश में जारी आर्थिक मंदी के बीच मोदी सरकार के लिए राहत भरी खबर आई है। दरअसल, जलाई में औद्योगिक उत्पान में वृद्धि दर्ज की गई है। जिसके चलते दर बढ़कर 4.3 फीसदी हो गई है। वहीं जून माह में यह दर महज 2 फीसदी ही थी।

0
114
manufacture sector

नई दिल्ली। देश में जारी आर्थिक मंदी के बीच मोदी सरकार के लिए राहत भरी खबर आई है। दरअसल, जलाई में औद्योगिक उत्पान में वृद्धि दर्ज की गई है। जिसके चलते दर बढ़कर 4.3 फीसदी हो गई है। वहीं जून माह में यह दर महज 2 फीसदी ही थी।

इसके अलावा मैन्युफैक्चरिंग ग्रोथ में भी बढ़ोतरी पाई गई है। जुलाई में मैन्युफैक्चरिंग ग्रोथ 1.6 फीसदी थी, जो अगस्त में बढ़कर 4.2 फीसदी तक पंहुच गई है। वहीं माइनिंग सेक्टर की ग्रोथ 1.6 फीसदी से बढ़कर 4.9 फीसदी तक पंहुच गई है। हालांकि जुलाई में बिजली के उत्पादन में कमी पाई गई है। जून के दर 8.2 फीसदी थी जो कि अब सिर्फ 4.8 फीसदी ही रह गई है।

खुदरा महंगाई दर में वृद्धि

इसके अलावा अगस्त में खुदरा महंगाई दर में भी वृद्धि पाई गई है। जुर्लाइ में ये दर 3.15 भी जो अब 3.21 पर आ गई है। इस अवधि के दौरान कंज्यूमर, फूड प्राइस इंफ्लेशन में जुलाई के 2.6 फीसदी से बढ़कर 2.99 फीसदी दर्ज की गई है।

बताया जा रहा है कि औद्योगिक उत्पादन दर में वृद्धि होना देश की अर्थव्यवस्था के लिए बेहतर संकेत है। क्योंकि पिछले कुछ महीनों से आर्थिक वृद्धि में लगातार सुस्ती का दौर जारी है।

उल्लेखनीय है कि बीते कुछ दिनों में 8 कोर सेक्टर्स की विकास दर में गिरावट हुई थी। जुलाई महीने में 8 कोर सेक्टर्स की ग्रोथ घटकर 2.1 फीसदी पर आ गई है। जबकि पिछले वयानी जुलाई 2018 में यह दर 7.3 फीसदी थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here