इंदौर। मध्यप्रदेश के इंदौर में आयोजित ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट का आज आखिरी दिन है। ब्रिलियंट कन्वेंशन सेंटर में चल रहे दो दिवसीय ग्लोबल इनवेस्टर समिट में भाग लेने आए उद्योगपतियों ने मध्यप्रदेश में निवेश का वादा भी किया है। ग्लोबल इन्‍वेस्टर्स समिट के पहले दिन यानी बुधवार को ही करोड़ों रुपये के निवेश का प्रस्‍ताव मिला है। इंदौर में दो दिवसीय चल रहे ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट का शुभारंभ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया था। इस समिट में करीब 84 देशों के 431 इन्वेस्टर्स शामिल हुए है।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इंवेस्टर्स समिट में कहा- प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी ने वर्ष 2026 तक पांच ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने की बात कही है। इसमें मध्य प्रदेश का योगदान 550 बिलियन डालर से कम नहीं होगा। प्रदेश में 300 से अधिक औद्योगिक क्षेत्र हैं। अनेक फूड पार्क, प्लास्टिक पार्क हैं और अब मेडिकल डिवाइसेस पार्क भी विकसित हो रहे हैं। निवेशक खुद यह मानने लगे हैं कि मध्य प्रदेश निवेश की दृष्टि से अनुकूल है। ऐसे उद्योगपति जो मप्र में उद्योग लगाएंगे, उन्हें हम 24 घंटे में भूमि आवंटित करेंगे।

Also Read – Global Investors Summit 2023 : कृषि क्षेत्र में नीदरलैंड की कंपनी ने दिखाई रुचि, अपशिष्ट से बनाएंगे ईंधन

समारोह में सम्मानित हुए सभी प्रतिभावान व्यक्तियों को  सुमित्रा महाजन (पूर्व लोकसभा स्पीकर), शिवराजसिंह चौहान (मुख्यमंत्री मध्यप्रदेश), शंकर लालवानी (सांसद मध्यप्रदेश), पुष्यमित्र भार्गव (महापौर, इंदौर नगर निगम) सहित अंतर्राष्ट्रीय पदाधिकारियों ने शुभकामनाएं दी। अतिथियों का स्वागत डॉ. भरत शर्मा (संस्कृति मंत्रालय, भारत सरकार) एवं राजेश शुक्ला ने किया तथा आभार डॉ. सुचिता शुक्ला ने व्यक्त किया।

इंदौर में आयोजित ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट में दुनिया भर की शीर्ष कंपनियों ने रुचि दिखाई। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के साथ 2 दिन तक चली वन टू वन चर्चा में अधिकतर उद्योगपतियों ने इंदौर के आसपास अपना काम शुरू करने में रुचि दिखाई है। मध्यप्रदेश के अन्य क्षेत्रों की तुलना में इंदौर में हो रहे डेवलपमेंट और स्वच्छता जैसी मुख्य बातों ने सभी का ध्यान आकर्षण किया है।