फ्लाइट इंटरनेशनल, समारोह गली-मोहल्ले जैसा

0
21
airport

एयरपोर्ट इंटरनेशनल हो गया और कल पहली फ्लाइट दुबई चली गई, लेकिन उसके लिए जो इंतजाम किए गए थे, वो गली-मोहल्ले जैसे थे। एयरपोर्ट के लाउंज में समारोह रख लिया। वहां गिनती के लोगों के लिए भी बैठने तक का इंतजाम नहीं था। दुबई उड़ान के एक घंटे पहले जश्न शुरू हुआ। रागिनी मक्खर के गणेश वंदना के बाद स्वागत-सत्कार शुरू हुआ।

संचालन करने वाला बंदा समझ नहीं पा रहा था कि कौन क्या है, इसलिए संजय शुक्ला को पूर्व विधायक कहता रहा। बैठने के लिए कुर्सी का इंतजाम नहीं था। एयर इंडिया के सीएमडी अश्विन लोहानी और सुमित्रा महाजन के अलावा बोलने का मौका किसी को नहीं मिला। दुबई फ्लाइट का पहला टिकट खरीदने वाले युवा उद्योगपति अंकित पाटीदार को समारोह शुरू होने के पहले ही लाउंज में खड़े कर सम्मानित कर दिया। मंच पर छुटभैये नेताओं की तरह इतने ज्यादा लोग खड़े हो गए कि समझ में नहीं आ रहा था कि कौन क्या है।

मालवी बोली जानकार प्रतीक्षा नैयर ने स्वागत भाषण दिया। भाषण बाजी के दौरान कब केक कट गया, पता ही नहीं चला। मंच को चारों तरफ से लोगों ने घेर लिया था, जो कुर्सियों पर बैठे थे, उन्हें भी कुछ नहीं दिख रहा था। उड़ान को हरी झंडी दिखाने के लिए सुमित्रा महाजन और संजय शुक्ला को ले जाना भूल गए। समारोह लाउंज की बजाय बाहर पार्किंग वाले इलाके में होता, तो बेहतर हो सकता था। एयरपोर्ट डायरेक्टर अर्यमा सान्याल के लिए पहली बार समारोह करने का काम पड़ा, लेकिन कुछ कर नहीं पा रही थीं कि उनके हाथ में कुछ नहीं था

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here