भारतीय टेनिस की स्टार दिग्गज खिलाड़ी सानिया मिर्ज़ा ने शनिवार को खेल से संन्यास लेने का ऐलान किया। सनिया के मुताब़िक टुबई टेनिस चैंपियनशिप उनके करियर का आख़िरी टूर्नामेंट होगा, जो दुबई में आयोजित किया जाएगा। बता दें कि सानिया ने इससे पहले भी टेनिस से संन्यास लेने की घोषणा की थी, लेकिन बाद में उन्होंने इस ऐलान को वापस ले लिया था।

सोशल मीडिया के माध्यम से किया सन्यास का ऐलान

बता दें भारतीय टेनिस स्टार ने इंस्टाग्राम पोस्ट करते हुए बताया कि वह ऑस्ट्रेलियाई ओपन के बाद अपने बेटे के साथ अधिक वक्त बिताना चाहेंगी। उन्होंने आगे लिखा कि 30 साल पहले हैदराबाद की एक छह साल की लड़की कोर्ट पर पहली बार गई, अपनी मां के साथ गई और कोच ने बताया कि टेनिस कैसे खेलते हैं। सानिया मिर्जा आगे लिखती हैं कि मुझे लगा था कि टेनिस सीखने के लिए मैं बहुत छोटी हूं। मेरे सपनों की लड़ाई 6 साल की उम्र में शुरू हुई।

Also Read : अपने अंतिम दिनों में बेटी के यहां रहते थे शरद यादव, नहीं थी खुद की कोई संपत्ति!

आपको बता दें कि 36 साल की सानिया मिर्जा ने 2003 में अपने प्रोफेशलन करियर की शुरुआत की थी। 2003 में उन्होंने भारत के लिए खेलते हुए जूनियर विम्बलडन का खिताब अपने नाम किया था। इसके बाद सानिया मिर्जा ने साल 2009 में ऑस्ट्रेलियन ओपन, 2012 में फ्रेंच ओपन और 2014 में यूएस ओपन का खिताब भी जीता था। आपको बता दें कि सानिया मिर्जा ने पिछले साल घोषणा की थी कि 2022 सत्र उनका आखिरी दौरा होगा, लेकिन यूएस ओपन से पहले चोटिल होने के कारण उन्हें संन्यास की योजना में बदलाव करना पड़ा।