इंदौर में बारिश से त्राहिमाम, कागज के नाव की तरह पानी में बह गई कई कार, जलजमाव से लोग परेशान

मध्य प्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर के रहवासी इस समय बरसात की वजह से त्राहि-त्राहि कर रहे हैं।

मध्य प्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर के रहवासी इस समय बरसात की वजह से त्राहि-त्राहि कर रहे हैं। शहर की सड़कें पूरी तरह जलमग्न है और शहर का जनजीवन पूरी तरह अस्त-व्यस्त है। आज शाम हुई मूसलाधार बारिश ने इस कदर शहर पर अपना कहर बरपाया कि जिसने भी उस मंजर को देखा सर पकड़ कर बैठ गया। पानी के बहाव में खिलौनों की तरह बहती चार पहिया गाड़ियां और जान बचाकर निकलते मोटरसाइकिल सवार मानो दोनों हाथ जोड़े इंद्र देवता से बारिश बंद करने की गुहार कर रहे थे।

 

शहर के अलग-अलग हिस्सों से लोगों ने सोशल मीडिया पर बारिश से हुई तबाही के वीडियो शेयर किए। एक वीडियो प्रजापत नगर राम मंदिर का है जिसमें साफ तौर पर देखा जा सकता है कि किस तरह चार पहिया वाहन पानी के बहाव में बहते हुए चले जा रहे हैं। वही दूसरा वीडियो इंदौर के ट्रेजर टाउन के आसपास के जल भराव का है। वीडियो में साफ तौर पर देखा जा सकता है कि किस तरह एक कार चालक तेज बहाव पानी में से अपनी कार निकालने की कोशिश करता है, लेकिन पानी की गति ज्यादा होने की वजह से कार पानी में बहने लगती है और कुछ दूर जाकर पलट जाती है। हालांकि यह लोग सुरक्षित कार से निकल गए और उनकी जान बच गई।

 

इंदौर के द्वारकापुर क्षेत्र के प्रजापत नगर राम मंदिर मेन रोड में बहाव इतना तेज था कि दो कारें चालक सहित बह गईं, एक कार का बहते-बहते पलट गई। जैसे तैसे चालक बाहर निकला। रहवासियों ने घटना के वीडियो बना लिए, जो जमकर वायरल हो रहे हैं। वहीं राजीव गांधी चौराहे से बिजलपुर जाने के रास्ते भी बंद जैसे हो गए। सड़क पर पानी ही पानी नजर आ रहा था। यातायात बाधित हुआ, थोड़ी देर के लिए जाम भी लगा।
शहर के कई हिस्सों मे जल भराव की सूचना मिलने के बाद महापौर पुष्यमित्र भार्गव पश्चिम क्षेत्र के जल भराव वाले इलाक़ों में पहुंचे। भार्गव के साथ संबंधित क्षेत्र के झोन अधिकारियों के साथ क्षेत्रीय पार्षद बबलू शर्मा और प्रशांत बड़वे भी थे। भार्गव ने सभी झोन के अधिकारियों से चर्चा कर निर्देश भी दिए कि जिन जगहों पर जल भराव है उन जगहों पर जा कर मोर्चा संभालें। महापौर भार्गव वैशाली नगर, स्कीम नम्बर 71, राजेंद्र नगर, द्वारकापुरी, विशाल नग़र, नालंदा परिसर पहुंचे थे। उन्होंने भारी बारिश के कारण विभिन्न क्षेत्रों में जलभराव की स्थिति का जायजा लिया। रहवासियों से मुलाकात कर निगम के अधिकारियों को दिए दिशा निर्देश दिए हैं।

 

इंदौर जिले में जारी मानसून सत्र में अब तक 29.9 मिलीमीटर औसत वर्षा हो चुकी है। ये आंकड़ा वर्षभर की सामान्य वर्षा की तुलना में 55.65 प्रतिशत है। जिले में 952.20 मिलीमीटर सामान्य वर्षा मानी जाती है। भू-अभिलेख कार्यालय के अनुसार जिले के इंदौर क्षेत्र में 670.8 मिलीमीटर, महू क्षेत्र में 503 मिलीमीटर, सांवेर क्षेत्र में 514.8 मिलीमीटर, देपालपुर में 571.9 मिलीमीटर तथा गौतमपुरा क्षेत्र में 389 मिलीमीटर वर्षा दर्ज की गई है।

 

 

 

इंदौर में पिछले 24 घंटे में 4 इंच बारिश

इंदौर। शहर में कल सुबह से देर रात और आज सुबह 8.30 बजे तक 108.9 mm यानी 4 इंच बारिश रिकॉर्ड की गई आज 10 अगस्त तक इंदौर में 779.7 mm, 31 इंच से ज्यादा बारिश का आंकड़ा पार हो चुका है।यशवंत सागर का एक गेट रात को 12:30 बजे खोला गया एक गेट रात को 3:00 बजे खोला गया तीसरा गेट सुबह 6:30 बजे खोला गया।

 

 

 

तालाबों के लेवल की जानकारी

1. यशवंत सागर sh.19.f.l.19.3
2. बड़ी बिलावली.sh.34.f.l.29. 1
3. छोटी बिलावली.sh.12.f.l.9.0
4. बड़ा सिरपुर.sh.16.f.l.17.8
5. छोटा सिरपुर.sh.14.f.l. 15.7
6. पिपलियापाला.sh.22 f.l.22.0
7.लिम्बोदी.sh.16.f.l.14. 0