Homeइंदौर न्यूज़आदिवासी सम्मेलन के बहाने शक्ति प्रदर्शन, दो लाख से ज्यादा लोग बुलाए...

आदिवासी सम्मेलन के बहाने शक्ति प्रदर्शन, दो लाख से ज्यादा लोग बुलाए जाएंगे भोपाल

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मौजूदगी में 15 नवंबर को भोपाल के जम्बूरी मैदान में दो लाख से ज्यादा आदिवासियों को जुटाने का टारगेट सरकार ने तय किया है, जिसके लिए अफसरों को जवाबदारियां दी जा रही हैं।

राजेश राठौर
इंदौर : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) की मौजूदगी में 15 नवंबर को भोपाल (Bhopal) के जम्बूरी मैदान में दो लाख से ज्यादा आदिवासियों को जुटाने का टारगेट सरकार ने तय किया है, जिसके लिए अफसरों को जवाबदारियां दी जा रही हैं। भाजपा आदिवासियों में लगातार घुसपैठ करने की कोशिश कर रही है। हाल ही में जोबट उपचुनाव के बाद पार्टी आदिवासियों को और जोडऩे के लिए कोशिश कर रही है। जम्बूरी मैदान में भीड़ जुटाने के लिए आदिवासी विभाग सक्रिय हो गया है।

बिरसा मुंडा से लेकर टंट्या भील तक को याद किया जाएगा। आदिवासियों के लिए शुरू की गई योजनाओं की चित्र प्रदर्शनी भी सम्मेलन स्थल पर लगाई जाएगी। प्रदेश के आदिवासियों की जमीनों और उनके रोजगार को लेकर कुछ नई घोषणाएं भी मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chouhan) कर सकते हैं। आदिवासी इलाकों से बस और ट्रेन से भोपाल सबको लाया जाएगा। भोजन का इंतजाम भी रखा गया है। उपचुनाव में भाजपा (BJP) की हुई जीत के बाद मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान, प्रधानमंत्री मोदी के सामने ये बताने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे कि उनकी कितनी योजनाओं का लाभ आदिवासियों को मिला है।

ये भी पढ़े : Delhi : 6 महीने मुफ्त में मिलेगा राशन, इस सीएम ने की पीएम से ये अपील

मुख्यमंत्री आने वाले दिनों में आदिवासी क्षेत्रों में लगातार दौरे के कार्यक्रम भी बना रहे हैं। 15 नवंबर को प्रधानमंत्री को आना है, लेकिन अभी तक पीएमओ से अधिकृत तौर पर कोई प्रोग्राम राज्य सरकार को नहीं मिला है। मुख्यमंत्री सचिवालय के अनुसार एक-दो दिन में कार्यक्रम बनकर आ जाएगा। वैसे मोदी का भोपाल में एक ही कार्यक्रम है, लेकिन कुछ दूसरे कार्यक्रम जोडऩे की भी कवायद चल रही है।

RELATED ARTICLES

Stay Connected

9,992FansLike
10,230FollowersFollow
70,000SubscribersSubscribe

Most Popular