डेली कॉलेज विवाद, अध्यक्ष पवार को लेकर कोई दिक्क्त नहीं

डेली कॉलेज के बोर्ड ऑफ गवर्नर्स से जय सिंह झाबुआ की सदस्यता समाप्त करने और उन्हें मताधिकार से वंचित करने के लिए हाईकोर्ट में याचिका लगाई गई थी.

इंदौर: डेली कॉलेज के बोर्ड ऑफ गवर्नर्स से जय सिंह झाबुआ की सदस्यता समाप्त करने और उन्हें मताधिकार से वंचित करने के लिए हाईकोर्ट में याचिका लगाई गई थी. इस याचिका को मध्यप्रदेश हाई कोर्ट की इंदौर बेंच के जस्टिस वीके शुक्ला ने स्थगित कर दिया है.

बता दें कि याचिकाकर्ता की ओर से झाबुआ की सदस्यता समाप्त करने और उन्हें मताधिकार का प्रयोग ना करने देने के लिए लगाई गई याचिका की वरिष्ठ अभिभाषक विवेक तंखा और अभिभाषक अंशुमन श्रीवास्तव ने पैरवी की थी. शासन की ओर से अतिरिक्त महाधिवक्ता पुष्यमित्र भार्गव ने तर्क रखे. इसके बाद इस याचिका पर विचार करते हुए इंदौर बेंच के जस्टिस वीके शुक्ला ने स्थगन दे दिया.

मामले में डेली कॉलेज प्रबंधन का कहना है कि जय झाबुआ की याचिका पर नोटिस अंतरिम रूप से मीटिंग व वोटिंग का अधिकार है. नवनिर्वाचित अध्यक्ष विक्रम पवार व नवनियुक्त प्राचार्य पर कोई स्थगन नहीं, रजिस्ट्रार की जांच भी जारी रहेगी.

देखिए कोर्ट आदेश की कॉपी-